Types of Internet Connection in Hindi

Notes on Various Types of Internet Connections in Hindi

अपने कम्प्यूटर पर इंटरनेट कनेक्शन प्राप्त करने के लिए हमें किसी ISP के यहाँ अपना Account खोलवाने की जरूरत पड़ती है। ISP अर्थात् Internet Service Provider वह कम्पनी होता है जो लोगों को उनके कम्प्यूटर पर इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध कराता है। इसके लिए टेलीफोन लाईन का प्रयोग संचार माध्यम के रूप में किया जाता है। इसमें Modem को एक ओर से ISP के सर्वर से टेलीफोन लाईन के द्वारा कनेक्ट किया जाता है और दूसरी ओर से इसे हमारे कम्प्यूटर से जोड़ा जाता है। विभिन्न प्रकार के Connecting Devices के बारे में जानने के लिए यह पोस्ट देखें—Connecting Devices (Networking & Internetworking). इंटरनेट कनेक्शन निम्नलिखित प्रकार के होते है—

  1. Dial-Up Connection
  2. ISDN Connection
  3. Leased Line Connection
  4. Braodband Connection

Dial Up Connection

Dial Up Connection में हमें ISP के द्वारा एक Telephone Number प्रदान किया जाता है। फिर जब भी हमें अपने कम्प्यूटर पर इंटरनेट चलाना होता है तो हम अपने कम्प्यूटर से उस Number पर Dial करते है। इससे हमारे कम्प्यूटर और ISP Server के मध्य एक Connection स्थापित हो जाता है और हम इंटरनेट का उपयोग कर पाते है। किन्तु किसी Phone Call की तरह ही यह Connection भी अस्थायी होता है और Request व Response के पूरा होते ही अपने आप समाप्त हो जाता है। यदि हमें फिर से इंटरनेट का उपयोग करना होता है तो पुनः Number पर Dial करने की जरूरत पड़ती है। Dial Up Connection में प्रयुक्त Modem की गति समान्यतः 56 Kbps की होती है। इसमें हम इंटरनेट का प्रयोग करते समय फोन पर बात नहीं कर सकते है। Data Communication के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Data Communication

ISDN Connection

ISDN का अर्थ Integrated Services Digital Network होता है। यह एक Digital Telephone सेवा होता है जिसकी सहायता से Audio, Video एवं Data को Digital Form में Transmit किया जाता है। इसमें हम एक ही Connection से Computer, Printer व Fax Machine को जोड़कर उनका प्रयोग कर सकते है। ISDN Connection में विशेष प्रकार के ISDN Adapter का प्रयोग किया जाता है जिसकी गति समान्यतः 128 Kbps की होती है। इसमें 64-64 Kbps के दो Channel होते है इसीलिए इसमें इंटरनेट का प्रयोग करते हुए फोन पर बात भी किया जा सकता है। Communication Modes के बारे में जानने के लिए देखें—Communication Modes and its Types

Leased Line Connection

Leased Line को Dedicated Line भी कहा जाता है। यह एक Private Line होता है जिसका प्रयोग केवल हमारे Data को ही लाने व ले जाने के लिए किया जाता है। इसका प्रयोग कम्पनीयों एवं संस्थाओं में Internet से जुड़ने, Phone Call करने, व अलग-अलग स्थानों पर लगे कम्प्यूटरों का आपस में जोड़ने के लिए किया जाता है। इसकी सहायता से Private Network जैसे—LAN आदि बनाए जाते है जिसमें Full Time Connectivity मिलती है। सामान्यतः Fiber Optic Cable का प्रयोग Leased Line के रूप में किया जाता है जिसमें Mbps की गति से Data व Voice का Transmission होता है। नेटवर्के टोपोलाजी के बारे में जानने के लिए देखें—Network Topologies and its Types

Broadband Connection

Broadband एक High Speed Internet Connection होता है। यह वर्तमान में सबसे प्रचलित Internet Connection है जिसका प्रयोग घर, स्कूल, कालेज, दुकान, आफिस सभी स्थानों पर किया जाता है। इसमें Data, Sound, Video, Fax आदि की सुविधा एक ही Line की सहायता से उपलब्ध करायी जाती है। इसकी गति Mbps की होती है और इसमें Full Time Connectivity प्राप्त होती है। वर्तमान में Broadband Connection भी कई प्रकार की उपलब्ध है जैसे—DSL, Fiber Optic, Cable Modem, Cable TV, Wireless, Satellite, BPL आदि। इन सबमें DSL सबसे प्रचलित Broadband Connection है। DSL का अर्थ Digital Subscriber Line होता है जो Mbps की गति वाला High Speed Braodband Connection है। DSL भी अलग-अलग स्थानों की जरूरत के अनुसार प्रकार के होते है जैसे—SDSL, ADSL, HDSL, VDSL आदि। इन सभी में इंटरनेट की Speed व Bandwidth अलग-अलग होती है। नेटवर्किंग प्रोटोकाल के बारे में जानने के लिए देखें—Protocols and TCP/IP Suite

Types of Internet Connection in Hindi
Fig. Internet Connection

I-Facts (Interesting facts about various types of Internet Connections)

  1. इंटरनेट या किसी नेटवर्क में डेटा ट्राँस्फर की गति को Bps (Bits per second) में मापा जाता है। इसे Baud भी कहा जाता है।
  2. Mbps: Mega bits per second का संक्षिप्त रूप है जो 10 लाख bits प्रति सेकण्ड डेटा ट्राँस्फर को बताता है।
  3. ADSL – Asymmetric Digital Subscriber Line का संक्षिप्त रूप है। इस प्रकार के Connection में Uploading और Downloading दोनो की गति अलग-अलग होती है।
  4. SDSL – Symmetric Digital Subscriber Line का संक्षिप्त रूप है। इस प्रकार के Connection में Uploading और Downloading दोनो की गति एक समान होती है।
  5. विभिन्न प्रकार के कम्प्यूटर नेटवर्को के बारे में जानने के लिए देखें—Computer Networks and its Types
Share it to: