Types of Computer Virus in Hindi

Types of Computer Virus in Hindi

Virus एक ऐसा प्रोग्राम है जिसे हमारे कम्प्यूटर को नुकसान पहुँचाने के लिए बनाया जाता है। प्रत्येक वायरस प्रोग्राम कम्प्यूटर को अलग-अलग तरह से नुकसान पहुँचाते है। कोई डेटा को नुकसान पहुँचाता है तो कोई साफ्टवेयर को नुकसान पहुँचाता है तो कोई हार्ड डिस्क को भरने का काम करता है। अतः कम्प्यूटर को नुकसान पहुंचाने के तरीके के आधार पर Virus निम्नलिखित प्रकार के होते हैं— (कम्प्यूटर वायरस के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Computer Virus its Mechanism and Effects)

Types of Computer Virus in Hindi

Boot Sector Virus

Boot Sector Virus हमारे Hard Disk के C Drive के Boot Sector में रहता है। जब हम अपने कम्प्यूटर को Start करते हैं तो यह Operating System को Boot Sector से RAM में Load होने नहीं देता हैं। अंततः हमारा Computer Start नहीं हो पाता हैं। यह Virus Master Boot Record, FAT और Partition Table को नुकसान पहुंचाता हैं। उदाहरण— C-Brain, Form, Disk Killer, Michelangelo, Stone virus etc.

Partition Table Virus

यह वायरस Hard Disk के Partition Table को नुकसान पहुंचाता है । यह Master Boot Record को प्रभावित करता है। साथ ही RAM और I/O Operations की क्षमता को कम कर देता है। उदाहरण—Happy Birthday Joshi etc.

File Virus

इस प्रकार के Virus Executable File या Software के साथ अपने को Copy कर लेते हैं । जब हम इन Software को Run करते है तो ये इसके साथ ही Run होकर पूरे System में फैल जाते हैं और System को नुकसान पहुंचाते हैं । File Virus को Parasitic Virus या Program Virus भी कहा जाता है। उदाहरण— Sunday, Cascade, Invader, Flip, and Tequila etc.

Stealth Virus

Stealth Virus एक ऐसा Virus होता है जो स्वयं को Anti Virus के द्वारा पकड़े जाने से हर संभव छिपाने का प्रयास करता है। इसके लिए यह अपने नाम को बार – बार परिवर्तित करता है और Disk के एक स्थान से दूसरे स्थान पर घूमते रहते हैं । Frodo, Joshi, Whale etc.

Polymorphic Virus

Polymorphic का अर्थ अनेक रूपों वाला या बहरूपिया होता हैं । इस प्रकार Polymorphic Virus ऐसा Virus होता है जो कम्प्यूटर को हर बार अलग तरह से नुकसान पहुंचाता हैं। इसीलिए इस Virus का पता लगाना बहुत मुश्किल काम होता हैं। उदाहरण— Involuntary, Stimulate, Cascade, Phoenix, Evil, Proud, Virus 101 etc.

Macro Virus

Macro Virus एक ऐसा Virus होता है जिसे किसी Applications के अंदर उपलब्ध Macro Programming में लिखा जाता है। इसीलिए यह Virus उन Applications जैसे – Word, Excel, Powerpoint, Access आदि के Data को नुकसान पहुंचाता है जिसमें यह होता हैं। उदाहरण— DMV, Nuclear, Word Concept, Melissa Worm etc.

I-Facts (Interesting facts about various types of Computer Virus)

  1. Dropper: यह एक ऐसा प्रोग्राम है जो स्वयं तो वायरस नहीं होता किन्तु जब यह कम्प्यूटर में रन होता है तो इसमें वायरस को Install कर देता है। अतः यह वायरस के लिए Carrier का कार्य करता है।
  2. Backdoor: इसे Trapdoor भी कहा जाता है। यह एक ऐसा Utility है जिसकी सहायता से नेटवर्क के माध्यम से दूरस्थ कम्प्यूटर को Access किया जा सकता है। इसका प्रयोग सामान्यतः Authorized Administrator के द्वारा किया जाता है किन्तु इसकी सहायता से Attacker भी हमारे कम्प्यूटर को Access कर सकते है।
  3. Rootkit: यह एक ऐसा प्रोग्राम होता है जिसे हमारे कम्प्यूटर पर Low Level Access प्राप्त करने के लिए बनाया जाता है। यह किसी तरह सिस्टम में अपने उपस्थिति को छुपाए रखता है और प्रत्येक बार सिस्टम के बूट होने पर सक्रिय हो जाता है।
  4. वायरस किन किन तरीकों से हमारे सिस्टम में फैलता है जानने के लिएि देखें—How Virus Spread?
Share it to: