Difference between structure and union in C++ in Hindi

Difference between structure and union in C++ in Hindi

Structure के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Structures in C++

Structure एक ऐसा Variable होता है जिसमें एक समय में एक से अधिक डेटा को स्टोर किया जा सकता है। इसमें स्टोर डेटा Array की तरह एक ही टाईप के हो यह जरूरी नहीं होता है। इसे विशेष रूप से किसी Entity अर्थात् Student, Employee, Customer, Product, Transaction आदि से संबंधित अलग-अलग टाईप के डेटा को स्टोर करने के लिए बनाया गया है। इसीलिए Structure को अलग-अलग प्रकार के डेटा का Collection भी कहा जाता है। वास्तव में Structure एक Single Variable न होकर Variables का समूह होता है जिन्हें Member Variables कहते है। Structure में प्रत्येक Member के लिए अलग-अलग मेमोरी Allocate होती है।

Syntax:

struct structure_name
{
	List of Members;
}structure_variables;

Example:

struct student
{
	char grade;
	int marks;
	float percent;
}s1;

Union के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Unions in C++

Union Structure की तरह ही एक ऐसा Variable होता है जिसमें अलग-अलग टाईप के डेटा को स्टोर किया जा सकता है। किन्तु इसके डेटा को स्टोर करने का तरीका Structure से अलग होता है। जहाँ Structure आपने सारे Members को अलग-अलग मेमोरी Locations पर स्टोर करता है वही Union आपने सारे Members को एक ही मेमोरी Location पर स्टोर करता है। इसीलिए एक समय में इसके केवल एक Member को ही Access किया जा सकता है किन्तु Structure में हम एक ही समय में इसके सभी Members को Access कर सकते है। अतः Union का प्रयोग प्रोग्राम में तब किया जाता है जब एक समय में केवल एक ही Member को Access करने की जरूरत होती है।

Syntax:

union union_name
{
	List of Members;
}union_variable;

Example:

union u
{
	char c;
        int i;
	float f;
}u1;

Difference between structure and union

Structure और Union की उपर्युक्त परिभाषा के आधार पर हम इन दोनों में निम्नलिखित अंतर निकाल सकते है—

Difference between structure and union in C in Hindi

Example programs for structure and union in C++

  1. Declaration and initialization of structure
  2. Array of structure
  3. Pointer to structure
  4. Declaration and initialization of union
  5. Differentiate Structure and Union
Share it to:

Pointer to structure in C++ in Hindi

Pointer to structure in C++ in Hindi

Pointer के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Pointers in C++

जिस प्रकार हम Pointer का प्रयोग किसी Variable को Point करने के लिए करते है ठीक उसी प्रकार इसकी सहायता से किसी Structure को भी Point किया जा सकता है। यहाँ Structure को Point करने का अर्थ उसके Members को Pointer के द्वारा Access करना है। सामान्यतः हम Structure के Members को Structure Variable के द्वारा Access करते है। किन्तु Structure के Members को Pointer के द्वारा Access करने के लिए Structure Variable को Pointer के रूप में भी Declare किया जा सकता है। इन दोनों में अंतर यह है कि जब हम Structure Variable को सामान्य प्रकार का Declare करते है तो उसके Members को Dot Operator ( . ) के द्वारा Access करते है किन्तु Pointer प्रकार का Declare करते है तो Arrow Operator ( -> ) के द्वारा Access करते है।

Structure के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Structures in C++

Pointer to structure in C++ in Hindi

C++ में Union क्या होता है जानने के लिए देखें—Unions in C++

Structure example programs in C++

  1. Declaration and initialization of structure
  2. Array of structure
  3. Pointer to structure
Share it to:

Array of Structure in C++ in Hindi

Array of Structure in C++ in Hindi

Structures के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Structures in C++

Structure का प्रयोग करके किसी Entity जैसे— Student, Employee, Customer, Product, Transaction आदि से संबंधित अलग-अलग टाईप के डेटा को आसानी से स्टोर किया जा सकता है। किन्तु इसमें Entity की संख्या अधिक होने पर पुनः हमें उतने ही Structure Variables बनाने होगें। अतः इस समस्या से बचने के लिए हम अलग-अलग Structure Variable न बनाकर Structure का ही Array बनाते है जिसे Array of Structures कहते है। इसकी सहायता से बहुत अधिक मात्रा में किसी Entities के Records को स्टोर करना सभंव होता है। साथ ही इसमें Loop के प्रयोग से सभी Records पर Input/Output Operation भी बहुत आसानी से प्रोग्राम की कोडिंग को बढ़ाए बिना ही किया जा सकता है। जब हम Array of Structure बनाते है तो इसके Variables भी मेमोरी में किसी सामान्य Array की तरह Contiguous Locations में अर्थात् एक के बाद एक स्टोर होते है।

Pointer to structure क्या है जानने के लिए देखें—Pointer to structure in C++

Array of Structure in C++
Fig. Array of Structures in C++

Union क्या है जाने इस पोस्ट में—Unions in C++

Structure example programs in C++

  1. Declaration and initialization of structure
  2. Array of structure
  3. Pointer to structure
Share it to:

Structures in C++ in Hindi

Structures in C++ in Hindi

Array of structure क्या होता है जानने के लिए देखें—Array of structures in C++

Structure भी Array की तरह ही एक ऐसा Variable होता है जिसमें एक समय में एक से अधिक डेटा को स्टोर किया जा सकता है। किन्तु इसमें स्टोर डेटा एक ही टाईप के हो यह जरूरी नहीं होता है। इसे विशेष रूप से किसी Entity अर्थात् Student, Employee, Customer, Product, Transaction आदि से संबंधित अलग-अलग टाईप के डेटा को स्टोर करने के लिए बनाया गया है। इसीलिए Structure को अलग-अलग प्रकार के डेटा का Collection भी कहा जाता है। वास्तव में Structure एक Single Variable न होकर Variables का समूह होता है जिन्हें Member Variables कहते है। इसके Member Variables को Structure Variable और Member Variable के नाम के साथ Dot Operator . का प्रयोग करके Access किया जाता है। Structure के सारे Members भी मेमोरी में Contiguous Locations में अर्थात् एक के बाद एक स्टोर होते है।

Pointer to structure के बारे में जानने के लिए देखें—Pointer to structure in C++

Structure Definition and Variable Creation Syntax in CPP in Hindi
Fig. Structure in C++

Union क्या होता है जानने के लिए देखें—Unions in C++

Structure example programs in C

  1. Declaration and initialization of structure
  2. Array of structure
  3. Pointer to structure
Share it to: