File Handling Input Output Functions in C in Hindi

File Handling and File Input Output Functions in C in Hindi

C-language में File Handling के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Introduction to File

C-Language में File पर डेटा Read/Write करने के लिए निम्नलिखित Functions होते है—

File Handling Input Output Functions in C in Hindi

fgetc()

इस function का प्रयोग file से एक बार में एक character read करने के लिए किया जाता हैं। Example: ch=fgetc(fp);

File Handling Operations के बारे में जानने के लिए देखें—File Handling Operations in C

fputc()

इस function का प्रयोग file में एक बार में एक character write करने के लिए किया जाता हैं। Example: fputc(ch,fp);

fgets()

इस function का प्रयोग file से एक बार में एक string read करने के लिए किया जाता हैं। Example: fgets(str,80,fp);

File को Open और Close करने की विधि जानने के लिए देखें—Opening and Closing of File

fputs()

इस function का प्रयोग file में एक बार में एक string write करने के लिए किया जाता हैं। Example: fputs(str,fp);

getw()

इस function का प्रयोग file से एक बार में एक integer read करने के लिए किया जाता हैं। Example: num=getw(fp);

विभिन्न प्रकार के File Handling Modes के बारे में जानने के लिए देखें—File Opening Modes

putw()

इस function का प्रयोग file में एक बार में एक integer write करने के लिए किया जाता हैं। Example: putw(num,fp);

fscanf()

इस function का प्रयोग file से एक बार में एक या एक से अधिक data(char, int, float, string) को read करने के लिए किया जाता है। Example: fscanf(fp,”%c%d%f%s”,&c,&i,&f,&s);

fprintf()

इस function का प्रयोग file में एक बार में एक या एक से अधिक data(char, int, float, string) को write करने के लिए किया जाता है। Example: fprintf(fp,”%c%d%f%s”,c,i,f,s);

File Handling Functions के बारे में जानने के लिए देखें—File Input Output Functions

fread()

fread() का प्रयोग file से binary mode में data को read करने के लिए किया जाता है। यह function file से एक बार में n byte data के n block को read करता है। यहाँ block का अर्थ structure variable से है जिसमें किसी entity का पूरा record होता है। Example: fread(&s,sizeof(s),1,fp);

fwrite()

fwrite() का प्रयोग file में binary mode में data को write करने के लिए किया जाता है। यह function एक बार में n byte data के n block को फाइल में write करता है। यहाँ block का अर्थ structure variable से है जिसमें किसी entity का पूरा record होता है। Example: fwrite(&s,sizeof(s),1,fp);

File example programs in C

  1. Writing to a file in C
  2. Reading from a file in C
  3. Appending to a file in C
  4. Reading all data from a file in C
Share it to:

File Opening Modes in C in Hindi

File Opening Modes in C in Hindi

C-language में File Handling के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Introduction to File

File opening mode का अर्थ file को open करने के उद्देश्य से है। हम जब भी file को open करते हैं तो उस पर कुछ न कुछ कार्य करने के लिए open करते हैं। file opening mode हमें यही बताता है कि हम किस कार्य के लिए file को open कर रहे हैं। C में निम्नलिखित प्रकार के file opening modes होते हैं—

File Opening Modes in C in Hindi
Fig. File Opening Modes in C

File Handling Operations के बारे में जानने के लिए देखें—File Handling Operations in C

“r” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता हैं। यदि file disk में बना होता है तो उसे memory (RAM) में load करता है और pointer को उसके पहले character पर set करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: reading

“r+” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता हैं। यदि file disk में बना होता है तो उसे memory (RAM) में load करता है और pointer को उसके पहले character पर set करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: reading, writing, modifying

File को Open और Close करने की विधि जानने के लिए देखें—Opening and Closing of File

“w” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता है। यदि file disk में बना होता है, तो इसके contents को overwrite करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो दिए गए नाम से नया file बनाता है। पहले से बने file या बनाए गए नए file को open नहीं कर पाने पर ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: writing

“w+” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता है। यदि file disk में बना होता है, तो इसके contents को overwrite करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो दिए गए नाम से नया file बनाता है। पहले से बने file या बनाए गए नए file को open नहीं कर पाने पर ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: writing, reading, modifying

“a” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता है। यदि file disk में बना होता है तो उसे memory (RAM) में load करता है और pointer को उसके अंतिम character पर set करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो दिए गए नाम से नया file बनाता है। पहले से बने file या बनाए गए नए file को open नहीं कर पाने पर ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: appending

File Handling Functions के बारे में जानने के लिए देखें—File Input Output Functions

“a+” mode

दिए गए नाम के file को disk में search करता है। यदि file disk में बना होता है तो उसे memory (RAM) में load करता है और pointer को उसके अंतिम character पर set करता है। और यदि file disk में नहीं बना होता है तो दिए गए नाम से नया file बनाता है। पहले से बने file या बनाए गए नए file को open नहीं कर पाने पर ‘\0’ अर्थात् NULL return करता है। Operations: appending, reading

File example programs in C

  1. Writing to a file in C
  2. Reading from a file in C
  3. Appending to a file in C
  4. Reading all data from a file in C
Share it to:

Opening and Closing a in C in Hindi

How to open close file in C in Hindi

C-language में File Handling के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Introduction to File

File पर कार्य करने के लिए इसे open करने की जरूरत पड़ती है। इसके लिए fopen() Function का प्रयोग किया जाता है। इसी प्रकार फाइल पर कार्य पूरा हो जाने के बाद इसे close करने की जरूरत पड़ती हैं। इसके लिए fclose() Function का प्रयोग किया जाता हैं। लेकिन fopen() व fclose() का प्रयोग करने से पहले हमें file Structure Type का pointer बनाना होता है जो फाइल के address को स्टोर करता है और फाइल पर Read/Write करने का कार्य करता है। File Pointer निम्नलिखित प्रकार से बनाते हैं—

Opening and Closing a in C in Hindi

File Handling Operations के बारे में जानने के लिए देखें—File Handling Operations in C

File Pointer बना लेने के बाद हम fopen() का प्रयोग करके फाइल को Open करते हैं। fopen() दो Arguments लेता है। पहला Argument उस फाइल का नाम होता है जिसे Open करना चाहते हैं और दूसरा Argument वह Mode होता है जिसमें फाईल को Open करना चाहते हैं। यदि fopen() दिये गये नाम के फाइल को सफलतापूर्वक Open कर लेता है तो यह उस फाइल के Address को Return करता है और यदि सफलतापूर्वक Open नहीं कर पाता हैं तो NULL Return करता है। fopen() का प्रयोग निम्नलिखित प्रकार से करते हैं—

Syntax:	pointer_name=fopen(“file_name”,”mode”);
Example: ptr=fopen(“abc.txt”,”r”);

विभिन्न प्रकार के File Handling Modes के बारे में जानने के लिए देखें—File Opening Modes

File Open करने के बाद हम File पर जो भी कार्य करना चाहते है वह करते हैं और कार्य पूरा हो जाने पर fclose() का प्रयोग करके उसे Close करते हैं। fclose()केवल एक argument लेता है जो उस File Pointer का नाम होता है जिसके द्वारा File को open किया गया है। इसका प्रयोग निम्नलिखित प्रकार से करते हैं—

Syntax:	fclose(pointer_name);
Example: fclose(ptr);

File Handling Functions के बारे में जानने के लिए देखें—File Input Output Functions

File example programs in C

  1. Writing to a file in C
  2. Reading from a file in C
  3. Appending to a file in C
  4. Reading all data from a file in C
Share it to:

File Handling Operations in C in Hindi

File Handling Operations in C in Hindi

C-language में File Handling के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Introduction to File

C-Language में विभिन्न प्रकार के File Handling Operations निम्नलिखित होते हैं—

File Handling Operations in C in Hindi

File को Open और Close करने की विधि जानने के लिए देखें—Opening and Closing of File

Opening a File

यदि File पहले से बना हुआ है तो उस पर कार्य करने के लिए उसे Open करते है। इसके लिए fopen() Function का प्रयोग किया जाता है।

Creating a File

यदि File पहले से नहीं बना है तो नया File बनाते है। इसके लिए भी fopen() Function का प्रयोग किया जाता है।

Reading from a File

विभिन्न प्रकार के File Handling Modes के बारे में जानने के लिए देखें—File Opening Modes

यदि File Open है तो उससे डेटा पढ़ते हैं। इसके लिए fscanf(), fgetc(), fgets() व fread() Functions का प्रयोग किया जाता है।

Writing to a File

यदि File Open है तो उसमें डेटा लिखते हैं। इसके लिए fprintf(), fputc(), fputs(), व fwrite() Functions का प्रयोग किया जाता है।

Moving in a File

यदि File Open है तो उसमें एक स्थान से दूसरे स्थान पर Cursor को ले जाते है। इसके लिए fseek(), ftell() व rewind() Functions का प्रयोग किया जाता है।

File Handling Functions के बारे में जानने के लिए देखें—File Input Output Functions

Closing a File

यदि File पर जो कार्य करना या है वह पूरा हो गया है तो इसे बंद करते हैं। इसके लिए fclose() Function का प्रयोग किया जाता है।

File example programs in C

  1. Writing to a file in C
  2. Reading from a file in C
  3. Appending to a file in C
  4. Reading all data from a file in C
Share it to:

File Handling/Management in C in Hindi

Introduction to File Handling and File Management in C in Hindi

File Handling Operations के बारे में जानने के लिए देखें—File Handling Operations in C

File का प्रयोग प्रोग्राम के Data व Results को Secondary Storage (Hard Disk) में स्टोर करने के लिए किया जाता हैं। सामान्यतः हम प्रोग्राम में जो भी Data Input करते हैं वह Primary Memory (RAM) में स्टोर होता हैं। इसी प्रकार Data की Processing के पश्चात् जो Results आता है वह भी Primary Memory में ही स्टोर होता हैं। किन्तु Primary Memory में Data व Results  अस्थायी रूप से Store होते हैं और प्रोग्राम के Run होते तक ही हमें उपलब्ध होते हैं। यदि हम चाहते हैं कि Data व Results भविष्य में उपयोग के लिए भी उपलब्ध हो तो इसे Secondary Memory में स्टोर करने की जरूरत होती हैं। Secondary Memory में Data व Results को एक File के रूप में स्टोर किया जाता हैं जिसका एक नाम होता है। हम भविष्य में इसी नाम के द्वारा ही File में स्टोर Data व Results को Open करके उपयोग में लाते हैं।

File को Open और Close करने की विधि जानने के लिए देखें—Opening and Closing of File

File Handling Management in C in Hindi
Fig. Program and File I/O

विभिन्न प्रकार के File Handling Modes के बारे में जानने के लिए देखें—File Opening Modes

Types of File in C

C – Language में निम्नलिखित दो प्रकार के File का प्रयोग Data व Results को Secondary Storage में स्टोर करने के लिए किया जाता है—

  1. Text File
  2. Binary File

Text File

Text File एक ऐसा File होता है जो Program के Data व Results को Characters के रुप में Disk में स्टोर करता हैं। Text File Data व Results को स्टोर करने के लिए बहुत Efficient नहीं होता हैं। चूँकि इसमें एक बार में एक Character को ही Read/Write किया जा सकता है अतः Read/Write Operation बहुत Slow होता है। साथ ही इसमें Data व Results Disk में RAM की तुलना में अधिक Byte का स्थान लेते हैं। उदाहरण के लिए Integer 5, 50, 500, व 5000 RAM में 2-2 Byte का स्थान लेते हैं किन्तु Disk में क्रमशः 1, 2, 3, व 4 Byte का स्थान लेते हैं।

File Handling Functions के बारे में जानने के लिए देखें—File Input Output Functions

Binary File

Binary File  एक ऐसा File होता है जो प्रोग्राम के Data व Results को Bytes के रूप में Disk में स्टोर करता है। Binary File Data व Results को Store करने के लिए बहुत Efficient होता है। चूंकि इसमें एक बार में जितना चाहे उतने Byte को Read-Write किया जाता है अतः Read-Write Operation बहुत Fast होता है। साथ ही इसमें Data व Results Disk में उतने ही Byte का स्थान लेते हैं जितना कि RAM में लेते हैं। उदाहरण के लिए Integer 5, 50, 500 व 5000 RAM में 2-2 Byte का स्थान लेते हैं और Disk में भी।

File example programs in C

  1. Writing to a file in C
  2. Reading from a file in C
  3. Appending to a file in C
  4. Reading all data from a file in C
Share it to: