Data Types in C in Hindi

Data Types in C Language in Hindi

Data type is a well defined collection of data (values). In any program variables are used to store data. These variables are associated with a particular data type which determines what type and up to what range of data can be stored in it and what operations can be performed. C++ Language has following three types of data type:

Data Type, data (values) का सुपरिभाषित (well defined) संग्रह होता है। किसी भी प्रोग्राम में data को स्टोर करने के लिए variables का प्रयोग किया जाता है। ये variable किसी विशेष data type से संबंधित होते है जो यह निर्धारित करता है कि इन variables में किस type का एवं कितने range तक का data स्टोर किया जाता सकता है और क्या-क्या operations किए जा सकते है। C++ Language में निम्नलिखित तीन प्रकार के data types होते है—

C-Language के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Brief Introduction of C

  1. Fundamental Data Types – int, char, float, double, void
  2. Derived Data Types – array, function, pointer
  3. User Defined Data Types – class, struct, union, enum, typedef

Fundamentals Data Types

Fundamentals data types are also called built in data types or primitive data types. They are used to store characters, integers and decimal numbers. They have following five types:

Fundamentals data types को built in data types या primitive data types भी कहा जाता है। इनका प्रयोग अक्षरों, पूर्णांक संख्याओं एवं दशमलव संख्याओं को स्टोर करने के लिए किया जाता है। ये निम्नलिखित पाँच प्रकार के होते है—

C-Language में Tokens क्या होता है जानने के लिए यह पोस्ट देेखें—Tokens in C

Character

Character data type is used to store single character such as ‘A’, ‘5’, ‘+’ etc. The char keyword is used to create variable of this data type. It occupies 1 byte in memory and ranges from -128 to 127.

Character data type का प्रयोग एक अक्षर जैसे— ‘A’, ‘5’, ‘+’ आदि को स्टोर करने के लिए किया जाता है। इस data type का variable बनाने के लिए char keyword का प्रयोग करते है। यह मेमोरी में 1 byte का स्थान लेता है और इसका range -128 से 127 तक होता है।

Integer

Integer data type is used to store store integers such as 5, 0, -86 etc. The int keyword is used to create variable of this data type. It occupies 2 byte in memory and ranges from -32768 to 32767.

Integer data type का प्रयोग पूर्णांक संख्याओं जैसे— 5, 0, -86 आदि को स्टोर करने के लिए किया जाता है। इस data type का variable बनाने के लिए int keyword का प्रयोग करते है। यह मेमोरी में 4 byte का स्थान लेता है और इसका range -32768 से 32767 तक होता है।

Float

Float data type is used to store store decimal numbers such as 40.25, 0.5, -82.49 etc. The float keyword is used to create variable of this data type. It occupies 4 byte in memory and ranges from 3.4 × 10-38 to 3.4 × 1038

Float data type का प्रयोग दशमलव संख्याओं जैसे— 40.25, 0.5, -82.49 आदि को स्टोर करने के लिए किया जाता है। इस data type का variable बनाने के लिए float keyword का प्रयोग करते है। यह मेमोरी में 4 byte का स्थान लेता है और इसका range 3.4 × 10-38 से 3.4 × 1038 तक होता है।

Double

Double data type is used to store very large or very small decimal numbers. The double keyword is used to create variable of this data type. It occupies 8 byte in memory and ranges from 1.7 × 10-308 to 1.7 × 10308

Double data type का प्रयोग बहुत बड़े या बहुत छोटे दशमलव संख्याओं को स्टोर करने के लिए किया जाता है। इस data type का variable बनाने के लिए int keyword का प्रयोग करते है। यह मेमोरी में 8 byte का स्थान लेता है और इसका range 1.7 × 10-308 से 1.7 × 10308 तक होता है।

Void

In C++ Language void keyword represents a special data type. Void means nothing or empty. As its name suggest it is not used to store any data. Therefore it is also called empty data type. It does not occupy any space in memory. It is generally used with functions and pointers. When a function does not return any values or does not take any argument then we declare it void.

C++ Language में void keyword एक विशेष data type को दर्शाता है। Void का अर्थ कुछ भी नहीं या खाली होता है। अपने नाम के अनुसार इसका प्रयोग किसी प्रकार के डेटा को स्टोर करने के लिए नहीं किया जाता है। इसीलिए इसे empty data type भी कहा जाता है। यह मेमोरी में कोई स्थान नहीं लेता है। इसका प्रयोग सामान्यतः functions एवं pointers के साथ किया जाता है। जब कोई function कोई value return नहीं करता है या कोई argument नहीं लेता है तो हम उसे void declare करते है।

C-Language के विभिन्न Operators के बारे में जानने के लिए देखें—Operators in C

उदाहरण—

void main(void)          void display (void)
{                  	 {
      ------;                    ------;
      ------;                    ------;
      ------;                    ------;
}                  	 }
Fundamental Data Types in C in Hindi
Fig. Fundamental Data Types in C

Basic example programs in C Language

  1. Sum of two entered numbers
  2. Average of three entered numbers
  3. Simple interest
  4. Total and Percent
  5. Swapping values of two variables
  6. Swapping without using third variable
  7. Celsius to Fahrenheit conversion
  8. Find area and circumference of circle
Share it to: