Read Only Memory ROM notes in Hindi

ROM कम्प्यूटर का एक स्थायी व विशेष मेमोरी होता है जिसमे कंप्यूटर के निर्माण के समय ही प्रोग्राम स्टोर कर दिये जाते हैं। इसमें सामान्यत: BIOS नाम का प्रोग्राम स्टोर होता है जो कम्प्यूटर को चालू करने का कार्य करता है। इस मेमोरी में स्टोर प्रोग्राम को परिवर्तित या डिलिट नहीं किया जा सकता है उन्हें केवल पढ़ा जा सकता हैं। इसलिए यह मेमोरी Read Only Memory कहलाता हैं। कम्प्यूटर का Switch Off होने के बाद भी ROM में संग्रहित प्रोग्राम व डाटा नष्ट नहीं होता हैं। इसीलिए इसे Non Volatile मेमोरी भी कहा जाता हैं। इसमें प्रोग्राम एक Fuse Link के जरिए डाला जाता है जिसे बाद में जला दिया जाता है अतः इसमें प्रोग्राम डालने के Burning भी कहा जाता है। ROM भी वर्तमान में विभिन्न प्रकार के होते है जो निम्नलिखित है–

1 Programmable ROM

Programmable ROM एक एक ऐसा मेमोरी होता है जिसमें एक बार प्रोग्राम संग्रहित होने के बाद इसे मिटाया नहीं जा सकता हैऔर न ही परिवर्तित किया जा सकता हैं। इस प्रकार हम खाली PROMबाजार से खरीद सकतेहै और उसमें अपने अनुसार केवल एक बार प्रोग्राम डाल सकते है जो स्थायी होता है।

2 Erasable Programmable ROM

Erasable Programmable ROM में प्रोग्राम को संग्रहीत व डिलिट दोनों किया जा सकता है। इसमें संग्रहित प्रोग्राम को पराबैगनी किरणों (Ultraviolet Rays) के द्वारा मिटाया जाता है और नए प्रोग्राम पुनःसंग्रहित किया जा सकता हैं। इस प्रकार हम EPROM में बार-बार प्रोगाम डालकर मिटा सकते है। इसमें प्रोग्राम को मिटाने के लिए इसे पराबैंगनी किरणों के सामने लगभग 40 मिनट तकरखना पड़ता है। इससे इसमें स्टोर सभी डेटा व प्रोग्राम डिलिट हो जाते है।

3 Electrically Erasable Programmable ROM

Electrically Erasable Programmable ROM भी Erasable Programmable ROM की तरह ही होता है। इसमें भी प्रोग्राम को संग्रहीत व डिलिट किया जा सकता है। किन्तु इसमें मेमोरी से प्रोग्राम को पराबैंगनी किरणों से न मिटाकर विद्युतीय विधि से मिटाया जाता हैं। इसमें प्रोग्राम को मिटाने का कार्य 1 सेकंड से भी कम समय में हो जाता है। साथ ही EEPROM में हम मेमोरी में स्टोर किसी चुने हुए प्रोग्राम को ही मिटाना चाहे तो ऐसा भी कर सकते है। किन्तु यह कार्य EPROM में नहीं हो सकता है।

Read Only Memory ROM notes in Hindi
Fig. ROM

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer