Pointers in C++ in Hindi

 

Pointer एक ऐसा Variable होता है जो किसी दूसरे Variable को Point करता है अर्थात् किसी दूसरे Variable के Memory Address (Reference) को स्टोर करके रखता है। यह C++ का एक Powerful Feature है जिसकी सहायता से हम किसी Variable के Address का प्रयोग करते हुए उसके Value को Access कर सकते है। इसके लिए हमें जिस टाईप के Variable के Address को स्टोर करना होता है Pointer Variable को भी उसी टाईप का बनाना होता है। किसी Pointer Variable को बनाना एवं उसमें किसी दूसरे Variable को Address को स्टोर करना बहुत आसान कार्य होता है। इसको बनाते समय Asterisk Sign * का प्रयोग किया जाता है जिसे Dereferencing Operator या Value at Address Operator कहा जाता है। इसी प्रकार इसमें किसी Variable के Address को स्टोर करने के लिए Ampersand Sign & का प्रयोग किया जाता है जिसे referencing Operator या Address of Operator कहा जाता है।

 

Pointers in C++ in Hindi

 

Click here to find example program for pointer

 

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer