Parts and Components of Personal Computer PC in Hindi

Important Parts and Components of Personal Computer PC in Hindi

Personal Computer उन कम्प्यूटरों को कहा जाता है जिसमें एक समय में सामान्यतः एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता हैं। इनके अंतर्गत डेस्कटाप, लैपटाप, टेबलेट, स्मार्टफोन आदि आते है। Personal Computer में एक Microprocessor लगा होता है इसलिए इन्हें Micro Computer भी कहा जाता है। इसके अतिरिक्त इसके विभिन्न भाग निम्नलिखित होते है—

Parts and Components of Personal Computer PC in Hindi

Internal Parts and Components of PC

Computer के वे सभी Parts जो CPU Cabinet के अंदर लगे होते है Internal Parts या Internal Components कहलाते है। इसके अंतर्गत निम्नलिखित Parts आते है—

Central Processing Unit (CPU)

CPU अर्थात् Central Processing Unit को System Unit भी कहते है| यह Computer का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता हैं| इससे कम्प्यूटर के सभी Devices जुड़े हुए रहते है जैसे- Keyboard, Mouse, Monitor, Printer आदि| इसे Computer का मस्तिष्क (Brain) भी कहते है| इसका मुख्य कार्य प्रोग्राम (Programs) को क्रियान्वित (Execute) करना तथा डेटा (Data) को Process करना होता है। CPU के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Organization of Computer. CPU के निम्नलिखित तीन भाग होते है–

  1. Arithmetic and Logic Unit (ALU)
  2. Main Memory (RAM)
  3. Control Unit (CU)

Random Access Memory (RAM)

RAM कम्प्यूटर का अस्थायी व प्राथमिक मेमोरी होता हैं। हम की-बोर्ड या अन्य किसी इनपुट डिवाइस से जो कुछ भी डेटा इनुपट करते है वह सबसे पहले RAM में स्टोर होता है फिर मानीटर पर दिखाई देता है। चूँकि RAM में डेटा व प्रोग्राम अस्थायी रूप से संगृहीत होते है और कम्प्यूटर के बंद हो जाने या बिजली चले जाने डिलिट हो जाते है। इसलिए RAM को Volatile मेमोरी भी कहा जाता है। RAM के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—RAM: Random Access Memory

Hard Disk Drive (HDD)

Hard Disk कम्प्यूटर में डेटा स्टोर करने के लिए सबसे प्रचलित Secondary Storage Device है। किसी भी कम्प्यूटर में कोई और सेकेण्डरी स्टोरेज हो या न हो एक हार्ड डिस्क जरूर लगा होता है। हार्ड डिस्क में Aluminium के बने एक या एक से अधिक पतले Disk (Plate) होते है जिसमें चुंबकीय पदार्थ Iron Oxide की परत चढ़ी होती है। हार्ड डिस्क में डिस्क Track में बँटे होते है और प्रत्येक Track में भी छोटे-छोटे Sector होते है। एक Sector में 512 Byte डेटा स्टोर होता है। Disk के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Hard Disk: Essential Secondary Storage Device

Optical Disk Drive (ODD)

Optical Disk एक चपटा, वृत्ताकार Polycorbonate डिस्क होता है। इस पर डाटा एक समतल सतह के अन्दर Pits के रूप में Store किया जाता हैं। Pits को Bumps भी कहा जाता है जो वास्तव में Optical Disk की सतह पर बने छोटे-छोटे गढ्ढ़े होते है। ये इतने छोटे होते है कि इन्हें हम अपनी आँखों से नहीं देख सकते है। Optical Disk में डेटा को प्रकाश किरण की सहायता से स्टोर किया जाता है इसीलिए इसे Optical Disk कहा जाता है। ये दो प्रकार के होते है—CD व DVD. इनके बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Optical Disk: CD/DVD Notes in Hindi

Switch Mode Power Supply (SMPS)

SMPS एक Power Conversion यूनिट होता है जो 220V के AC को विभिन्न डिवाईसों की आवश्यकता के अनुसार DC में परिवर्तित करके उन्हें देता है। कम्प्यूटर के इलेक्ट्रानिक डिवाईसों को 5V तथा मोटर, पंखे आदि को 12V के पावर की आवश्यकता होती है।

Video Card

विडियो कार्ड को Graphics Card या Display Card के नाम से भी जाना जाता है। इसका कार्य मानीटर स्क्रीन पर आकृतियों व आउटपुट का निर्माण करना होता है। आजकल के कम्प्यूटरों में विडियो कार्ड मदरबोर्ड पर पहले से ही Inbuilt होता है।

Sound Card

साउंड कार्ड भी विडियो कार्ड की तरह ही मदरबोर्ड पर पहले से ही Inbuilt होता है। इसका कार्य माईक्रोफोन से प्राप्त Analog Signals को Digital Data में परिवर्तित करके मेमोरी में स्टोर करना होता है। साथ ही यह मेमोरी में स्टोर Digital संगीत को Analog रूप में परिवर्तित करके स्पीकर को भेजता है।

Network Interface Card (NIC)

NIC एक ऐसा Device होता है जो हमारे कम्प्यूटर को नेटवर्क से जोड़ने का कार्य करता है। यह हमारे कम्प्यूटर के मदरबोर्ड में पूर्व निर्मित होता है। कम्प्यूटर व नेटवर्क के मध्य डेटा भेजने या प्राप्त करने का कार्य NIC की सहायता से ही होता है। प्रत्येक NIC Card का एक Unique Address होता है जिसे MAC Address कहते है। NIC को Network Adapter, LAN Adapter या Physical Network Interface भी कहा जाता है।

Motherboard

मदरबोर्ड को कम्प्यूूटर को Main Board या Backbone भी कहा जाता है। यह एक तरह का Printed Circuit Board (PCB) होता है जिससे कम्प्यूटर के बाकी सभी डिवाईस प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े होते है। इसीलिए इसे कम्प्यूटर का ह्रदय भी कहा जाता है।

External Parts and Components of PC

Computer के वे सभी Parts जो CPU Cabinet के बाहर लगे होते है External Parts या External Components कहलाते है। इसके अंतर्गत निम्नलिखित Parts आते है—

Monitor

Monitor एक Softcopy आउटपुट डिवाईस है जो स्क्रीन पर आउटपुट को प्रदर्शित करता है। इसका स्क्रीन सामान्यतः एक टी.वी. की तरह होता है जिसे Visual Display Unit (VDU) या Visual Display Terminal (VDT) भी कहा जाता है। यह हमें की-बोर्ड के द्वारा इनपुट किए जा रहे डेटा एवं प्रोसेसिंग के परिणामों को लगातार दिखाते रहता है। वर्तमान में मानीटर सर्वाधिक प्रचलित Softcopy आउटपुट डिवाइस है जिसका प्रयोग सभी कम्प्यूटर में किया जाता है। मनीटर के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Monitor: An Essential Softcopy Output Device

Printer

Printer एक Hardcopy आउटपुट डिवाइस है जो कागज पर छापकर आउटपुट को प्रदर्शित करता है। कागज पर आउटपुट की यह प्रतिलिपि हार्डकापी कहलाता है। इस प्रकार प्रिंटर एक ऐसा आउटपुट डिवाइस है जो साफ्टकापी को हार्डकापी में परिवर्तित करता हैं।
मनीटर के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Printer: Hardcopy Output Device

Speaker

Speaker एक Audio आउटपुट डिवाइस है। यह कम्प्यूटर के Hard Disk,  CD, DVD, Pen Drive आदि में स्टोर Audio Files जैसे—गाने या रिकार्ड की गयी आवाज आदि को हमें सुनाने का कार्य करता है। यह साउंड कार्ड से उत्पन्न विद्युत सिग्नलों को प्राप्त कर इसे ध्वनि तरंगो में बदलता है।

Mouse

माउस एक Pointing इनपुट डिवाइस है। इसका प्रयोग स्क्रीन पर प्रदर्शित Options/Tools को Select करके कम्प्यूटर को निर्देश देने के लिए किया जाता है। साथ ही इसकी सहायता से Graphics/Drawing बनाए जाते है। वर्तमान समय में माउस सबसे प्रचलित Pointing Device है। इसमें सामान्यतः तीन बटन होते है जिनकी सहायता से कम्प्यूटर को निर्देश दिये जाते है। ये तीन बटन left click, right click व scroll होते है।

Keyboard

की-बोर्ड एक टाईपिंग इनपुट डिवाईस है। इसको मुख्यतः Text, Characters व Numbers इनपुट करने के लिये डिजाइन किया गया हैं। साथ ही इसकी सहायता से Keyboard Shortcuts का प्रयोग करते हुए कम्प्यूटर को निर्देश भी दिए जा सकते है। की-बोर्ड भौतिक रूप से प्लास्टिक का आयताकार बाक्स होता है जिसमें टाइपराइटर के समान Keys बने होते है।

Scanner

Scanner एक ऐसा Input Device है जो किसी Page पर बनी आकृति या लिखित सूचना को सीधे Computer में Input करता है। इसका मुख्य लाभ यह है कि User को सूचना टाइप नहीं करनी पड़ती हैं जिससे समय की बचत होती है| इस प्रकार हम कह सकते है कि Scanning एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमें Document का सीधे ही Hardcopy-to-Softcopy Conversion होता है।

Modem

Modem शब्द दो शब्दों Modulator और Demodulator से मिलकर बना है। यह एक ऐसा Device है जो Analog Signal को Digital Signal में तथा Digital Signal को Analog Signal में परिवर्तित करने का कार्य करता है।

Uninterruptible Power Supply (UPS)

UPS एक प्रकार का बैटरी होता है जो बिजली के चले जाने पर भी कम्प्यूटर को लगातार इसकी पूर्ति करते रहता है। इसका प्रयोग कम्प्यूटर को अचानक से बंद होने से बचाने व वर्तमान में किए जा रहे कार्य को सुरक्षित रखने के लिए किया जाता है।

Cables

Cables कम्प्यूटर सिस्टम के महत्वपूर्ण भाग होते है। इनका कार्य कम्प्यूर सिस्टम के सभी डिवाईसों को आपस में कनेक्ट करना होता है ताकि सिस्टम कार्य कर सके। इसके लिए कम्प्यूटर में विभिन्न प्रकार के केबल का प्रयोग किया जाता है जैसे—Power Cable, Display Cable, USB Cable आदि।

I-Facts (Interesting facts about Personal Computers PCs)

  1. प्रथम IBM-PC में Intel 8086 प्रोसेसर का प्रयोग किया गया था जो 8 bit का होता था। इस प्रकार के PC में स्टोरेज के लिए Floppy Disk होता था।
  2. PCXT – Personal Computer Extended Technology PC का विकसित रूप था जिसमें Intel 8088 प्रोसेसर का प्रयोग किया गया था। यह भी 8 bit का प्रोसेसर था किन्तु इस प्रकार के PC में Floppy Disk और Hard Disk दोनो लगा होता था।
  3. PCAT – Personal Computer Advanced Technology PC का और विकसित रूप था जिसमें Intel 80286 प्रोसेसर का प्रयोग किया गया था जो 16 bit का होता था। वर्तमान पीढ़ी के सभी PC को PCAT ही कहा जाता है।
  4. सभी प्रकार की नियंत्रण एवं गणनाएँ करने का कारण CPU को PC का दिमाग तथा सभी डिवाईसों को जोड़ने के कारण Motherbaord को इसका ह्रदय कहा जाता है।
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer