Network Topologies in Hindi

What is Network Topology in Hindi

Topology किसी नेटवर्क की आकृति या संरचना को कहते है। किसी नेटवर्क में विभिन्न प्रकार के Device जुड़े हो सकते है जिन्हें Node कहते है। ये सभी Node किस प्रकार एक दूसरे से जुड़कर Communication करते है यह उस नेटवर्क की Topology ही निर्धारित करती है। Topology निम्नलिखित पाँच प्रकार की होती है— ( कम्प्यूटर नेटवर्क के बारे में अधिक जानने के लिए देखें—Computer Networks and its Types)

  1. Star Topology
  2. Ring Topology
  3. Bus Topology
  4. Mesh Topology
  5. Tree Topology

Star Topology

Star Topology में सभी Node एक Star की आकृति में एक दूसरे से जुड़े होते है। इस प्रकार के नेटवर्क टोपोलाजी में एक Host या Controling कम्प्यूटर होता है जो नेटवर्क का सबसे प्रमुख कम्प्यूटर होता है। नेटवर्क के बाकी सभी Node इसी Host कम्प्यूटर से जुड़े होते है जो इन्हें Control करने का कार्य करता है। इसमें Sender से Receiver तक डेटा व सूचना सदैव Host कम्प्यूटर से होकर पहुँचता है। Star Topology वर्तमान में Networking के लिए बहुत प्रचलित Topology है।

STAR TOPOLOGY
Fig. STAR TOPOLOGY

Advantage of Star Topology

  1. किसी लोकल कम्प्यूटर के खराब हो जाने पर नेटवर्क पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  2. कम्प्यूटरों की संख्या बढ़ाए जाने पर Communication की गति कम नहीं होती।

Disadvantage of Star Topology

  1. Star Topology की मुख्य कमी यह है कि इसमें Host कम्प्यूटर के खराब हो जाने पर पूरा नेटवर्क फैल हो जाता है।
  2. इसमें पूरे नेटवर्क की क्षमता Host कम्प्यूटर पर निर्भर करता है।

Ring Topology

Ring Topology में सभी Node एक Ring की तरह गोलाकार आकृति में एक दूसरे से जुड़े होते है। इसीलिए इसे Circular Network भी कहा जाता है। इस प्रकार के नेटवर्क टोपोलाजी में कोई Host या Controling कम्प्यूटर नहीं होता है। इसमें Sender से Receiver तक डेटा व सूचना उनके बीच में आने वाले सभी कम्प्यूटरों से होकर पहुँचता है।

RING TOPOLOGY
Fig. RING TOPOLOGY

Advantages of Ring Topology

  1. इसमें यदि एक कम्प्यूटर कार्य करना बंद कर दे तो भी Communication दूसरी दिशा से होता रहता है।
  2. कोई Host या Controlling कम्प्यूटर नहीं होने के कारण Host कम्प्यूटर के खराब होने पर सारा नेटवर्क के Fail हो जाने का डर नहीं होता है।

Disadvantages of Ring Topology

  1. इसकी गति नेटवर्क में लगे कम्प्यूटरों की संख्या व क्षमता पर निर्भर करती है। कम्प्यूटरों की संख्या के अधिक होने एवं उनकी क्षमता कम होने से नेटवर्क की गति भी कम हो जाती है।
  2. इसके लिए विशेष प्रकार के साफ्टवेयर की आवश्यकता होती है।

Bus Topology

Bus Topology में एक विशेष प्रकार के केबल का प्रयोग किया जाता है जिसे Backbone Cable कहते है। इसमें नेटवर्क के सारे Node इसी केबल से जुड़े होते है। केबल के प्रारंभ व अंत में एक विशेष प्रकार का डिवाईस लगा होता है जिसे Terminator कहते है। इसका कार्य Signals के नियंत्रित करना होता है। Bus Topology में Sender से Receiver तक डेटा व सूचना सदैव Backbone से होकर पहुँचता है।

BUS TOPOLOGY
Fig. BUS TOPOLOGY

Advantages of Bus Topology

  1. किसी लोकल कम्प्यूटर के खराब हो जाने पर नेटवर्क पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।
  2. इसका प्रयोग छोटे नेटवर्क में किया जाता है।

Disadvantages Bus Topology

  1. Backbone के खराब होने पर पूरा नेटवर्क फैल हो जाता है।
  2. नेटवर्क में नए कम्प्यूटर को जोड़ना बहुत कठिन होता है।

Mesh Topology

Mesh Topology में नेटवर्क का प्रत्येक Node एक जाल की तरह इसके बाकी सभी Node से जुड़े हुए होते है। इसमें कोई Host या Controling कम्प्यूटर नहीं होता है। Mesh Topology भी Fully Connected एवं Partially Connected दो प्रकार का होता है। Fully Connected Mesh Topology में प्रत्येक Node नेटवर्क के बाकी सभी Node से Connected होता जबकि Partially Connected Mesh Topology में कुछ Node नेटवर्क के बाकी सभी Node से Conneted नहीं होते है।

MESH TOPOLOGY
Fig. MESH TOPOLOGY

Advantages of Mesh Topology

  1. दो कम्प्यूटरों के मध्य डेटा व सूचना सीधे-सीधे ही ट्राँस्फर होती है।
  2. नेटवर्क का फैल होना लगभग असंभव होता है।

Disadvantages of Mesh Topology

  1. इसमें बहुत अधिक मात्रा में केबल की जरूरत पड़ती है।
  2. इसे Install व Configure करना बहुत कठिन कार्य होता है।

Tree Topology

Tree Topology में एक Root Node होता है एवं बाकी सभी Node एक वृक्ष की शाखाओं की आकृति में इससे जुड़े होते है। इसे Hierarchical Network भी कहा जाता है। इस नेटवर्क टोपोलाजी में Root Node ही Host या Controling कम्प्यूटर होता है जो नेटवर्क का सबसे प्रमुख कम्प्यूटर होता है। नेटवर्क के एक Branch से दूसरे Branch में डेटा व सूचना Root Node से होकर ही पहुँचता है।

TREE TOPOLOGY
Fig. TREE TOPOLOGY

Advantages of Tree Topology

  1. इसकी सहायता से बड़े नेटवर्क बनाए जाते है।
  2. इसमें गलतियों का पता लगाना आसान होता है।

Disadvantages of Tree Topology

  1. Root Node के फैल होने पर पूरा नेटवर्क फैल हो जाता है।
  2. इसका Maintenance करना बहुत कठिन कार्य होता है।

I-Facts (Interesting facts about Various Types of Network Topologies)

  1. Topology को किसी नेटवर्क में Links के Physical या Logical Arrangment के रूप में भी परिभाषित किया जाता है।
  2. Topology की सहायता से जुड़े विभिन्न डिवाईसों के मध्य दो तरह के संबंध होते है।
  3. Peer to Peer Relation: इसमें डिवाईस Link को बराबर-बराबर Share करते है। उदाहरण— Ring और Mesh Topology
  4. Primary Secondary Relation: इसमें एक प्रमुख डिवाईस होता है जिसके नियंत्रण में बाकी सभी डिवाईस कार्य करते है। उदाहरण— Star और Tree Topology
  5. Bus Topology को Broadcast Network भी कहा जाता है।
  6. संचार में प्रयोग किए जाने वाले विभिन्न प्रकार के Networking Protocols के बारे में जानने के लिए देखें—Protocols and TCP/IP Suite
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer