Multiprocessing Operating System notes in Hindi

मल्टी प्रोसेसिंग आपरेटिंग सिस्टम में एक से अधिक प्रोसेसर होते है जो एक ही समय में रन हो रहे प्रोग्रामों को प्रोसेस करते है। मैनफ्रेम और सुपर कम्प्यूटर मल्टी प्रोसेसिंग सिस्टम के उदाहरण है। मल्टी प्रोसेसिंग में भी मल्टी प्रोग्रामिंग व मल्टी टास्किंग से सिद्धांत का प्रयोग किया जाता है। किन्तु इसमें प्रोसेसिंग यूनिट एक से अधिक होते है जो एक ही समय में रन हो रहे सभी प्रोग्रामों को आपस में मिलकर प्रोसेस करते है। एक से अधिक प्रोसेसर द्वारा प्रोसेसिंग की यह प्रकिया parallel processing कहलाता है। इसमें सारे प्रोसेसर एक साथ जुड़े रहते है और कार्य करते है। इसीलिए मल्टी प्रोसेसिंग सिस्टम में प्रोसेसिंग का कार्य सबसे तीव्र गति से होता है।

मल्टी प्रोसेसिंग सिस्टम भी दो प्रकार के होते है—Symmetric Multiprocessing और Asymmetric Multiprocessing. इन दोनों में मुख्य अंतर यह है कि Symmetric Multiprocessing में सारे प्रोसेसर एक समान होते है जो एक ही मेमोरी को Share करते है। जबकि Asymmetric Multiprocessing में बहुत सारे Slave प्रोसेसर होते है जिनके लिए अलग-अलग मेमोरी होता है तथा एक Master प्रोसेसर होता है जो इन सबको नियंत्रित करता है। साथ ही Symmetric Multiprocessing में सारे प्रोसेसर आपरेटिंग सिस्टम के टास्क का रन करते है जबकि Asymmetric Multiprocessing में केवल मास्टर प्रोसेसर ही आपरेटिंग सिस्टम के टास्क को रन करता है और बाकी प्रोसेसर को Assign करता है।

Multiprocessing Operating System notes in Hindi
Fig. Symmetric and Asymmetric Multiprocessing Operating System
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer