Micro, Mini, Mainframe and Super Computers in Hindi

Introduction to Micro, Mini, Mainframe and Super Computers in Hindi

Micro Computer

Micro Computer उन कम्प्यूटरों को कहा जाता है जिसमें एक Microprocessor लगा होता है। इन Computer पर सामान्यतः एक ही व्यक्ति कार्य कर सकता हैं इसलिए इसे Personal Computer (PC) भी कहा जाता है। इनके अंतर्गत डेस्कटाप, लैपटाप, टेबलेट, स्मार्टफोन आते है जिनकी कीमत 5 हजार से 2 लाख तक होती है। ये आकार व क्षमता में सबसे छोटे कम्प्यूटर होते है तथा सभी प्रकार के सामान्य कार्य करने में सक्षम होते है। इसका प्रयोग घर, व्यापार, स्कूल, कालेज, आफिस में किया जाता है। वर्तमान में प्रचलित माईक्रो कम्प्यूटर है—HP Pavilion, HP Slimline, HP Notebook, HP Compaq, Dell Inspiron, Dell Optiplex, Apple MacBook, Apple iMac  आदि। माईक्रो कम्प्यूटर को और अधिक जानने के लिए देखे—Personal Computer (PC)

Personal Micro Computer in Hindi
Fig. Micro or Personal Computer (PC)

Mini Computer

Mini Computer कम्प्यूटर माइक्रो कम्प्यूटर की तुलना में अधिक गति एवं क्षमता वाले कम्प्यूटर होते है। इनका आकार और कीमत भी माइक्रो कम्प्यूटर से अधिक होता है। इसी कारण इसे हम अपने व्यक्तिगत उपयोग के लिए नहीं खरीद सकते है। इन्हें सामान्यतः छोटी और माध्यम स्तर की कंपनियो के द्वारा खरीदा जाता है। मिनी कंप्यूटर्स में एक से अधिक C.P.U. लगे होते है तथा इस पर एक साथ एक से अधिक व्यक्ति कार्य कर सकते है। इन कंप्यूटर्स की स्पीड माइक्रो कम्प्यूटर से अधिक लेकिन मेनफ्रेम कम्प्यूटर से कम होती है। मिनी कम्प्यूटर्स का प्रयोग कंपनियों में वित्तिय खातों का रखरखाव, वेतनपत्र निर्माण, खरीद-बिक्री का हिसाब, लाभ-हानि की गणना आदि कार्यो के लिए किया जाता है।

Mainframe Computer

Mainframe Computer मिनी कम्प्यूटर की तुलना में अधिक गति व क्षमता वाले Computer होते हैं| ये Computer आकार में बहुत बड़े होते है तथा इनकी कीमत भी बहुत ज्यादा होती है। इनका उपयोग बड़ी कंपनियों, बैंक, रेल्वे, सरकारी विभाग द्वारा किया जाता हैं जहाँ बहुत अधिक मात्रा में डेटा को प्रोसेस करने की जरूरत पड़ती है| इन कम्प्यूटरों में बहुत सारे सीपीयू एकसाथ लगे होते है तथा कई उपयोगकर्ता एक साथ कार्य कर सकते है। ये संस्थान के लिए एक केन्द्रीय कम्प्यूटर के रूप में चौबीसों घंटे कार्य करने की क्षमता रखते है। मेनफ्रेम कम्प्यूटर्स का प्रयोग कंपनियों में वित्तिय खातों का रखरखाव, वेतनपत्र निर्माण, खरीद-बिक्री का हिसाब, लाभ-हानि की गणना, टैक्स की गणना, उत्पादन एवं लागत विश्लेष आदि कार्यो के लिए किया जाता है।

Super Computer

सुपर कम्प्यूटर सबसे शक्तिशाली कम्प्यूटर होते है। ये सर्वाधिक गति व क्षमता वाले Computer हैं| साथ ही ये  सबसे महँगे होते है व आकार में बहुत ही बड़े होते हैं| इसमें हजारो CPU समांतर क्रम में लगे होते है तथा हजारो व्यक्ति एक साथ कार्य कर सकते है| सुपर कम्प्यूटर्स का प्रयोग बड़े वैज्ञानिक और शोध प्रयोगशालाओ में शोध कार्यो में होता है। अंतरिक्ष यात्रा के लिए यात्रियों को अंतरिक्ष में भेजना, मौसम की भविष्यवाणी करना, अंतरिक्ष अन्वेषण, पेट्रोलियम पदार्थ की खोज, उच्च गुणवत्ता के एनीमेशन का निर्माण करने में इनका प्रयोग होता है। इन सभी कार्यो में बहुत अधिक मात्रा में तेजी से डेटा को प्रोसेस करना होता है जो केवल सुपर कम्प्यूटर ही कर सकता है। वर्तमान में दुनिया का सबसे शक्तिशाली सुपर कम्प्यूटर Sunway taihulight है जिसे चीन ने बनाया है।

I-Facts (Interesting facts about Micro, Mini, Mainframe and Super Computers)

  1. Altair-8800 दुनिया का सबसे पहला माइक्रो कम्प्यूटर था जिसे अमेरिकी कंपनी Micro Instrumentation and Telemetry Systems (MITS) ने बनाया था। इसमें Intel 8080 प्रोसेसर का प्रयोग किया गया था।
  2. Programmed Data Processor-8 (PDP-8) दुनिया का सबसे पहला मिनी कम्प्यूटर था जिसे अमेरिकी कंपनी Digital Equipment Corporation (DEC) ने बनाया था।
  3. दुनिया में सर्वप्रथम मैनफ्रेम कम्प्यूटर बनाने का श्रेय IBM (International Business Machine) को दिया जाता है।
  4. Cray K-1 दुनिया का सबसे पहला सुपर कम्प्यूटर था जिसे सुपर कम्प्यूटर बनाने वाली अमेरिकी Cray Research Company ने सन् 1979 में बनाया था।
  5. भारत में सबसे पहला कम्प्यूटर सन् 1967 में Electronic Corporation of India के द्वारा बनाया गया था जिसका नाम Siddharth था।
  6. भारत का पहला सुपर कम्प्यूटर PARAM-8000 है जिसे सन् 1991 में Center For Development of Advance Computing (C-DAC) पुणे के द्वारा बनाया गया और बाद में सन् 1998 में इसका विकसित रूप PARAM-10000 भी तैयार कर लिया गया।
  7. सामान्य कम्प्यूटर की गति को Million Instructions Per Second (MIPS) में मापा जाता है जबकि सुपर कम्पयूटरों की गति को Floating Point Operations Per Second (FLOPS) में मापा जाता है।
  8. मैनफ्रेम कम्प्यूटर और सुपर कम्प्यूटर में मुख्य अंतर यह होता है कि मैनफ्रेम कम्प्यूटर सामान्यतः एक सर्वर के रूप में विभिन्न प्रकार के कार्यो को करता है जबकि सुपर कम्प्यूटर किसी विशेष प्रकार के कार्य जैसे—बड़ी मात्रा में Floating Point Operations करता है।
  9. सुपर कम्प्यूटर में सामान्यतः Linux या Linux Type आपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाता है जबकि मैनफ्रेम कम्प्यूटर एक ही समय में विभिन्न प्रकार के आपरेटिंग सिस्टस को रन करते है।
  10. कम्प्यूटर के Organization की जानकारी के लिए देखें—Organization of Computer
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer