Keyboard Notes in Hindi

 

की-बोर्ड एक टाईपिंग इनपुट डिवाईस है। इसको मुख्यतः Text, Characters व Numbers इनपुट करने के लिये डिजाइन किया गया हैं। साथ ही इसकी सहायता से Keyboard Shortcuts का प्रयोग करते हुए कम्प्यूटर को निर्देश भी दिए जा सकते है। की-बोर्ड भौतिक रूप से प्लास्टिक का आयताकार बाक्स होता है जिसमें टाइपराइटर के समान Keys बने होते है। अलग-अलग की-बोर्ड में Keys की संख्या भी अलग-अलग होती है। उदाहरण के लिए Windows Keyboard में 104 Keys होते हैं जो निम्नलिखित 7 प्रकार के होते है—

1. Alphanumeric Keys: Alphanumeric Keys की-बोर्ड के Center में स्थित होता हैं। इसके अंतर्गत Alphabets (A-Z), Numbers (0-9), Symbols (@, #, $, %, & etc.) आते हैं।

2. Numeric Keypad:  Numeric Keypad की-बोर्ड के Right में स्थित होता है। इसमें 0-9 तक के अंक, गणितीय ऑपरेटर जैसे— + – * /. तथा Enter व Num Lock Key होते हैं।

3. Function Keys:Function Keys की-बोर्ड के सबसे ऊपर होते हैं जो F1 से F12 तक होते हैं। इनका प्रयोग विशेष कार्यो को करने के लिए किया जाता है। ये अलग-अलग सॉफ्टवेयर में अलग-अलग कार्य करती हैं।

4. Cursor Keys: Cursor Keys का प्रयोग कर्सर को स्क्रीन पर Up, Down, Left, Right चारों दिशा में Move कराने के लिए किया जाता है।

5. Modifier Keys: Modifier Keysके अंतर्गत Shift, Alt, Ctrl तीन Keys आते हैं। इनका प्रयोग अकेले न होकर अन्य Keys साथ Keyboard Shortcut के रूप में होता हैं। ये अपने साथ प्रयोग किए जा रहे Keys के इनपुट को बदल देती हैं इसलिए इन्हें Modifier Keys भी कहा जाता हैं।

6. Toggle Keys: Toggle Keys ऐसे बटन होते है जिन्हें एक बार दबाने पर वे On हो जाते है और पुनः दबाने पर Off हो जाते है। इसके अंतर्गत Num Lock, Caps Lock, Scroll Lock ये तीन बटन आते है।

7. Special Purpose Keys: इनका प्रयोग किसी विशेष कार्यो को करने के लिये किया जाता है। इसके अंतर्गत Windows (Start) Esc, Tab, Space, Insert, Delete, Home, End, Page Up, Page Down, Menu आदि आते है।

 

Keyboard Notes in Hindi
Fig. Structure of Keyboard

 

Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer