Hard Disk Notes in Hindi

Hard Disk कम्प्यूटर में डेटा स्टोर करने के लिए सबसे प्रचलित Secondary Storage Device है। किसी भी कम्प्यूटर में कोई और सेकेण्डरी स्टोरेज हो या न हो एक हार्ड डिस्क जरूर लगा होता है। हार्ड डिस्क में Aluminium के बने एक या एक से अधिक पतले Disk (Plate) होते है जिसमें चुंबकीय पदार्थ Iron Oxide की परत चढ़ी होती है। सारे डिस्क एक मजबूत पैकेट के अंदर Shaft में लगे होते है। प्रत्येक डिस्क में डेटा Read/Write करने के लिए एक Read/Write Head होता है। जब भी डेटा को Read/Write करना होता है डिस्क तेजी से घूमते है और इनके घूमने की गति को Revolutions Per Minute (RPM) में मापा जाता है। डिस्क जितनी तेज गति से घूमते है Read/Write भी उतना ही Fast होता है। उदाहरण के लिए 7200 RPM वाले हार्ड डिस्क 5400 RPM वाले हार्ड डिस्क से ज्‍यादा तेज होते है। हार्ड डिस्क में डिस्क Track में बँटे होते है और प्रत्येक Track में भी छोटे-छोटे Sector होते है। एक Sector में 512 Byte डेटा स्टोर होता है। हार्ड डिस्क निम्नलिखित दो प्रकार के होते है—

1 Internal Hard Disk

Internal Hard Disk डिस्क कम्प्यूटर के अंदर स्थायी रूप से लगा होता है। इसे कम्प्यूटर से हटाया नहीं जा सकता है। इसमें ही हमारे कम्प्यूटर का सारा डेटा एवं साफ्टवेयर स्टोर होता है। इसकी क्षमता वर्तमान में 500 GB से 1TB तक की होती है।

2 External Hard Disk

External Hard Disk को Removable Hard Disk भी कहा जाता है। यह हार्ड डिस्क हमारे कम्प्यूटर के अंदर स्थायी रूप से नहीं लगा होता है। इसे अलग से USB Cable की सहायता से कम्प्यूटर से जोड़ा जाता है। अतः इसे जब चाहे तब कम्प्यूटर से निकाला भी जा सकता है। सामान्यतः इसकी जरूरत हमें तब पड़ती है जब हमारा इंटरनल हार्ड डिस्क भर जाता है या हमें डेटा का Backup लेना होता है। इसकी क्षमता भी वर्तमान में 500GB से 1TB तक की होती है।

Hard Disk Notes in Hindi
Fig. Hard Disk
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer