Communication Protocols TCP IP in Hindi

 

Protocol नियमों एवं प्रक्रियाओं के समूह को कहते है जिन्हें सफलतापूर्वक Communication करने के लिए प्रत्येक Device को Follow करना पड़ता है। Protocols का कार्य नेटवर्क से जुड़े सभी प्रकार के Devices के मध्य संचार को स्थापित करना तथा सूचनाओं के आदान-प्रदान को नियंत्रित करना होता है। इसके लिए सामान्यतः TCP/IP का प्रयोग किया जाता है जो सूचनाओं को एक कम्प्यूटर से दूसरे कम्प्यूटर में पैकेट के रूप में भेजने के लिए एक स्टैण्डर्ड Protocol होता है।

 

Transmission Control Protocol / Internet Protocol (TCP/IP)

किसी नेटवर्क का सबसे महत्वपूर्ण Protocol TCP/IP होता है जो अपने आप में बहुत सारे Protocol से मिलकर बना होता है इसीलिए इसे TCP/IP Protocol Suite या TCP/IP Reference Model भी कहा जाता है। इस Model निम्नलिखित चार Layers शामिल होते है—

 

1 Application Layer

Application Layer TCP/IP Suite का सबसे पहला Layer होता है। इसका कार्य यूजर को Communication के लिए Interface उपलब्ध कराना होता है। इसमें यूजर अपने विभिन्न Applications जैसे—Brower, FTP, Email आदि के साथ कार्य करता है। इसमें HTTP, FTP, SMTP, IMAP, POP3 आदि Protocols होते है।

 

2 Transport Layer

Transport Layer का कार्य नेटवर्क के विभिन्न Hosts के मध्य Communication को निर्धारित करना होता है। इस Layer में TCP व UDP प्रोटोकाल होते है जो भेजे जाने वाले बड़े सूचना को Application Layer से प्राप्त कर छोटे-छोटे टुकड़ो में विभाजित कर Internet Layer में भेजते है। इसमें TCP अधिक Reliable एवं Connection Oriented Protocol होता है किन्तु UDP की तुलना में धीमी गति से कार्य करता है।

 

3 Internet Layer

Internet Layer का कार्य अलग-अलग Networks या Hosts को Communication के लिए आपस में Connect करना होता है। इस Layer में IP प्रोटोकाल होता है जो Transport Layer से छोटे-छोटे टुकड़ो के रूप में सूचना को प्राप्त कर Packetization, Addressing एवं Routing का कार्य करता है। एक बार सभी Data Packets के Receiver के पास पहुँच जाने के बाद इन Layers के द्वारा पुनः उन्हें व्यवस्थित कर वास्तविक सूचना में परिवर्तित करके Application Layer को भेज दिया जाता है। IP एक Unreliable एवं Connectionless Protocol होता है।

 

4 Network Access Layer

Network Access Layer में कोई नेटवर्किंग डिवाईस होता है जो विभिन्न Nodes को सर्वर से Connect करने का कार्य करता है। यह हमारे कम्प्यूटर को सर्वर कम्प्यूटर या किसी अन्य कम्प्यूटर से Data Packets को Send व Receive करने की सुविधा प्रदान करता है। Network Access Layer के रूप में NIC, Ethernet, Wi-Fi, Bluetooth, DSL आदि डिवाईस कार्य करते है।

 

TCP IP Protocol Suite
Fig. TCP/IP Protocol Suite

 

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer