Characteristics and Features of MS-Word in Hindi

1 Typing, Printing and Saving: वर्ड प्रोसेसर हमें किसी भी टैक्स्ट डाक्यूमेंट को टाईप व प्रिंट करने की सुविधा प्रदान करता है। इसकी सहायता से हम अपने डाक्यूमेंट को भविष्य में उपयोग के लिए सेव करके भी रख सकते है।

2 Text Editing: इसमें टैक्स्ट एडिटिंग की सुविधा होती है अर्थात् टाईप किया गया टैक्स्ट यदि गलत हुआ तो उसे मिटाकर पुनः सही टैक्स्ट टाईप कर सकते है। साथ ही कोई डाक्यूमेंट से कोई लाईन हटाना है या नया लाईन जोड़ना है तो यह भी कर सकते है।

3 Text Formatting: इसमें टैक्स्ट फार्मेंटिंग की सुविधा होती है अर्थात् टैक्स्ट में विभिन्न प्रभाव जैसे—बोल्ड, इटालिक, अंडरलाईन, फांट, फांट साईज, फांट कलर, सबस्क्रिप्ट, सुपरस्क्रिप्ट, स्ट्राईकथ्रू आदि दे सकते है।

4 Page Formatting: वर्ड प्रोसेसर में हम पेज की फार्मेटिंग अर्थात् पेज मार्जिन, पेज साईज, पेज कलर, पेज बार्डर, पेज हेडर, पेज फूटर, पेज नंबरिंग, वाटरमार्क आदि सेट कर सकते है।

5 Table: हमें कई बार ऐसे डाक्यूमेंट बनाने की जरूरत पड़ती है जिसमें रो और कालम में डेटा एंट्री करना होता है। इसके लिए हम वर्ड प्रोसेसर के टेबल टूल का प्रयोग करके आसानी से टेबल बनाकर डेटा एंट्री कर सकते है।

6 Illustrations: यदि हमें अपने डाक्यूमेंट में पिक्चर या फोटो की लाने की जरूरत पड़ी तो हम इसे भी आसानी से पिक्चर एवं क्लीपआर्ट का प्रयोग करके ला सकते है। साथ ही किसी जानकारी को चित्र बनाकर बताना हो तो शेप और स्मार्टआर्ट का प्रयोग कर सकते है।

7 Spelling and Grammar: वर्ड प्रोसेसर हमारे द्वारा टाईप करके बनाए जा रहे डाक्यूमेंट में स्पेलिंग और ग्रामर की गलतियों को भी ढूँढ़ने का कार्य करता है। यदि हम ग्रामर की गलती करते है तो हरे रंग में व स्पेलिंग की गलती करते है तो लाल रंग में अंडरलाईन करता है।

References: वर्ड प्रोसेसर में हम कोई बड़ा डाक्यूमेंट जैसे—पुस्तक भी आसानी से बना सकते है। इसके लिए आवश्यक टूल जैसे—Table of Contents, Index, Footnotes, Endnotes आदि वर्ड प्रोसेसर में उपलब्ध होते है।

9 Mail Merge: कई बार हमें एक ही डाक्यूमेंट को बहुत सारे व्यक्तियों के लिए बनाने की जरूरत पड़ती है। इसमें डाक्यूमेंट का कन्टेन्ट तो वही रहता है किन्तु व्यक्तियों के नाम, पता, मोबाईल, ईमेल आदि परिवर्तित हो जाता है। यह कार्य मेल मर्ज की सहायता से आसानी से किया जा सकता है।

10 Protection: वर्ड प्रोसेसर में हम बनाए गए डाक्यूमेंट में पासवर्ड डालकर उसे सुरक्षित रख सकते है। यह उस समय बहुत उपयोगी होता है जब डाक्यूमेंट बहुत सीक्रेट हो और उसे ई-मेल करके कहीं भेजना हो।

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer