Basic Organization of Computer System in Hindi

Organization of Computer System in Hindi

Personal computer (PC) के विभिन्न hardware parts की जानकारी के लिए देखें—Parts of Personal Computer (PC)

कम्प्यूटर का निर्माण बहुत सारे units व devices से मिलकर होता है जो कम्प्यूटर के elements या components कहलाते है। ये सारे units व devices साथ मिलकर कार्य करते है इसीलिए कम्प्यूटर को कम्प्यूटर सिस्टम भी कहा जाता है। इसकी संरचना में निम्नलिखित units शामिल होते है—

  1. Input Unit – Keyboard & Mouse
  2. System Unit / Central Processing Unit (CPU)
    1. Arithmetic and Logic Unit (ALU)
    2. Memory Unit – RAM
    3. Control Unit (CU)
  3. Output Unit – Monitor & Printer
Block Diagram of Computer System in Hindi
Fig. Block Diagram of Computer System

Input Unit

Input Unit वे Device होते है जिनके द्वारा हम अपने डाटा या निर्देशों को Computer में इनपुट कराते हैं। Computer में बहुत सारे Input Device होते है जो Computer के मस्तिष्क अर्थात् CPU को निर्देशित करते है कि वह क्या करे? Keyboard और Mouse कम्प्यूटर के दो सबसे जरूरी इनपुट डिवाईस होते है। इसके अलावा कुछ और महत्वपूर्ण Input Device निम्नलिखित है– Joystick, Trackball, Touch screen आदि। इनपुट डिवाईस मुख्यतः निम्नलिखित कार्य करते है—

  1. यूजर द्वारा इनपुट किए गए डेटा को स्वीकार करते है।
  2. डेटा को हमारी भाषा (English) से कम्यूटर के समझने योग्य भाषा (Machine/Binary) में परिवर्तित करते है।
  3. बाईनरी डेटा को प्रोसेसिंग के लिए System Unit में भेजते है।

इनपुट डेिवाईसों के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Input Devices and its Types.

System Unit

System Unit को CPU अर्थात् Central Processing Unit भी कहते है। इसका हिंदी नाम केन्द्रीय संसाधन इकाई होता हैं। यह Computer का सबसे महत्वपूर्ण भाग होता हैं। इसके बिना Computer सिस्टम पूर्ण नहीं हो सकता है। इससे कम्प्यूटर के सभी Devices जुड़े हुए रहते है जैसे- Keyboard, Mouse, Monitor, Printer आदि। इसे Computer का मस्तिष्क (Brain) भी कहते है। इसका मुख्य कार्य प्रोग्राम (Programs) को क्रियान्वित (Execute) करना तथा डेटा (Data) को Process करना होता है। इसके अलावा CPU Computer के सभी भागो जैसे- Memory, Input, Output Devices के कार्यों को भी नियंत्रित करता हैं। CPU के तीन भाग होते है–

Arithmetic and Logic Unit (ALU)

ALU का पूरा नाम Arithmetic Logic Unit होता है। यह यूनिट डाटा पर अंकगणितीय क्रियाएँ (जोड़, घटाना, गुणा, भाग) और तार्किक क्रियायें (तुलना व निर्णय लेना) करती हैं। ALU Control Unit से निर्देश लेता हैं। यह मेमोरी से डाटा को प्राप्त करता है तथा Processing के पश्चात सूचना को मेमोरी में लौटा देता हैं। ALU के कार्य करने की गति (Speed) अति तीव्र होती हैं। यह लगभग दस लाख गणनाये प्रति सेकंड (Per Second) की गति से करता हैं। इसमें ऐसा इलेक्ट्रॉनिक परिपथ होता है जो बाइनरी अंकगणित (Binary Arithmetic) की गणनाएँ करने में सक्षम होता हैं।

Main Memory Unit (RAM – Random Access Memory)

यह Input Device के द्वारा प्राप्त डेटा व निर्देशों को Computer में संग्रहण (Store) करके रखता है इसे Computer की स्मृति भी कहा जाता है। दूसरे शब्दों में Computer का वह स्थान जहाँ सभी सूचनाओ, आकड़ों व निर्देशों को Store करके रखा जाता है मेमोरी कहलाता हैं। इसका मुख्य कार्य वर्तामान में Execute हो रहे निर्देशों व Process हो रहे डेटा को स्टोर करना होता है। यह मेमोरी CPU का अभिन्न अंग होता है। इसे Computer की मुख्य मेमोरी (Main memory), आंतरिक मेमोरी (Internal Memory), या प्राथमिक मेमोरी (Primary Memory) भी कहते हैं।

मेमोरी के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Memory / Storage Devices and its Types

Control Unit (CU)

CU का पूरा नाम Control Unit होता हैं। CU कम्प्यूटर के सभी हार्डवेयर की क्रियाओ को नियंत्रित और संचालित करता हैं। यह Input, Output क्रियाओ को नियंत्रित (Control) करता है साथ ही Memory और ALU के मध्य डाटा के आदान प्रदान को निर्देशित करता है। यह प्रोग्राम (Program) को क्रियान्वित करने के लिये निर्देशों को मेमोरी से प्राप्त करता हैं। इसका मुख्य कार्य मेमोरी से क्रमानुसार निर्देशों को प्राप्त करना, उसे Interpret करना व विद्युत संकेतों (Electric Signals) में परिवर्तित करके उचित Devices तक पहुँचाना होता हैं।

Output Unit

Output Unit वे Device होते है जो User द्वारा इनपुट किये गए डाटा को Result के रूप में प्रदान करते हैं। Computer में बहुत सारे Output Device होते है जो इनपुट किए गए डेटा व प्रोसेसिंग के परिणामों को हमारे लिए प्रस्तुत करते है। Monitor और Printer दो सबसे जरूरी आउटपुट डिवाईस होते है। इसके अलावा कुछ और महत्वपूर्ण Output Device निम्नलिखित है– Speaker, Projector, Touch screen आदि। आउटपुट डिवाईस मुख्यतः निम्नलिखित कार्य करते है—

  1. सिस्टम यूनिट से प्रोसेसिंग के पश्चात् प्राप्त परिणामों को स्वीकार करते है।
  2. परिणामों को कम्यूटर के समझने योग्य भाषा (Machine/Binary) से हमारी भाषा (English) में परिवर्तित करते है।
  3. हमारे लिए परिणामों को स्क्रीन पर दिखाते है या कागज पर छापकर प्रदर्शित करते है।

आउटपुट डिवाईसों के बारे में अधिक जानकारी के लिए यह पोस्ट देखे—Output Devices and its Types.

I-Facts (Interesting Facts about Computer Architecture and Organization)

  1. Computer Architecture शब्द कम्प्यूटर absctract या conceptual model को प्रदर्शित करता है। यह बताता है कि कम्प्यूटर क्या-क्या कार्य कर सकता है।
  2. Computer Organization शब्द कम्प्यूटर आर्किटेक्चर के realization को प्रदर्शित करता है। यह बताता है कि कम्प्यूटर अपने कार्यो को कैसे करता है।
  3. Micro, Mini, Mainframe और Super Computer क्या होते है इनके बारे में विस्तृत जानकारी के लिए हमारा यह पोस्ट देखें—Micro, Mini, Mainframe and Super Computer
Share it to:

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer