Analog, Digital and Hybrid Computers in Hindi

Analog Computer

Analog Computer वे Computer होते है जो भौतिक मात्राओ को मापते है। ये ताप, दाब, गति, लम्बाई, चौड़ाई आदि को मापकर उनके परिमाप को व्यक्त करते है। इनमें भौतिक मात्राओं के मापन का कार्य तुलना के आधार पर किया जाता है। इनका प्रयोग मुख्यत: विज्ञान, चिकित्सा और इंजीनियरिंग के क्षेत्र में किया जाता है क्योकि इन क्षेत्रो में भौतिक मात्राओ का अधिक उपयोग होता हैं। थर्मामीटर, स्पीडोमीटर, घड़ी आदि एनालाग कम्प्यूटर के उदाहरण है।

Digital Computer

Digital Computer वे Computer होते है जो अंको की गणना करते है। इसमें सभी प्रकार के इनपुट व आउटपुट अंको के रूप में होता है जो Machine या Binary Code (0, 1) कहलाता है। Digital Computer सर्वाधिक प्रयोग में आने वाले कम्प्यूटर है। इनका प्रयोग घर, दुकान, स्कूल, कालेज, आफिस, रेलवे, बैंक आदि सभी स्थानों पर किया जाता है। डेस्कटाप, लैपटाप, टेबलेट, स्मार्टफोन, कैल्कुलेटर, डिजिटल घड़ी आदि डिजिटल कम्प्यूटर के उदाहरण है।

Hybrid Computer

Hybrid Computer वे Computer होते है जिनमें एनालाग और डिजिटल दोनों कम्प्यूटर की विशेषताएँ होती है। अर्थात् ये कम्प्यूटर भौतिक मात्राओं को मापने के साथ-साथ अंको की गणना करने में भी सक्षम होते है। उदाहरण के लिए किसी अस्पताल में लगा कम्प्यूटर हाईब्रिड कम्प्यूटर होता है जो मरीज के तापमान, ब्लड प्रेशर, धड़कन, आदि को मापकर अंको में व्यक्त करता है। इसी प्रकार पेट्रोल पम्प में लगा मशीन भी एक हाईब्रिड कम्प्यूटर होता हैं जिसका एनालाग भाग पेट्रोल की मात्रा को मापता है और डिजिटल भाग इसे अंको में प्रदर्शित कर मूल्य की गणना करता है।

Difference between Analog and Digital Computer in Hindi
Fig. Difference between Analog and Digital Computer in Hindi

Published by

admin

I am a computer teacher, programmer and web developer