RAM क्या है- What is RAM & Its types Hindi

Random Access Memory in Hindi रैम क्या है यह कितनी प्रकार की होती है : RAM का पूरा नाम Random-Access Memory होता है जो कि कंप्यूटर की main या primary memory कहलाती है। आपको बता दें कि RAM कंप्यूटर की बहुत ही fast memory होती है जो कि अस्थाई या वोलेटाइल होती है। इसका मतलब यह है कि इस memory में डेटा तब तक ही रहता है जब तक कि कंप्यूटर चालू है। जब कंप्यूटर का swich off कर दिया जाता है तो इसमें मौजूद डाटा erased हो जाता है। Random-Access Memory को कंप्यूटर के साथ ही smartphone में भी इस्तेमाल किया जाता है।

Random Access Memory in Hindi

रैंडम एक्सेस मेमोरी- Random Access Memory in Hindi

सभी कंप्यूटिंग डिवाइस में RAM एक working memory होती है जो कि system को high speed के साथ काम मदद करती है। RAM को बनाने के लिए लाखों की संख्या में कैपेसिटर और ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया जाता है। वर्तमान में इस्तेमाल होने वाली RAM में 1 memory cell बनाने के लिए एक ट्रांजिस्टर और कैपेसिटर को एक साथ जोड़ा जाता है। एक momory cell में 1 bit data स्टोर होता है। इस तरह high speed RAM को बनाने के लिए अरबों memory cell बनाये जाते हैं।

किसी भी कंप्यूटर में मुख्य रूप से 3 भाग होते हैं जिन्हें RAM, CPU और ROM कहा जाता है। आपको बता दें कि rom ये कि read only memory कंप्यूटर की स्थाई memory होती है। इसका मतलब यह है कि इसमें डाटा कंप्यूटर के swich off होने के बाद भी स्टोर रहता है। RAM कंप्यूटर की प्राइमरी memory होती है जब हमें किसी डेटा या फाइल को खोलते हैं तो वह हार्ड डिस्क में से RAM में लोड होता है। किसी सिस्टम RAM जितनी अधिक होगी उसकी स्पीड उतनी ही ज्यादा होती है। वर्तमान में ज्यादातर computer, laptop और smartphone में 4 GB से लेकर 12 GB तक की RAM आती है। कंप्यूटर में 128 GB तक की RAM भी उपलब्ध है। आजकल लोग हाई स्पीड की वजह से ज्यादा RAM वाले सिस्टम लेना पसंद करते हैं।

RAM का इतिहास (RAM history in Hindi)

कंप्यूटर के शुरूआती दिनों में उनमे RAM के स्थान पर Delay Lines, Relays और Mechanical Counters का उपयोग किया जाता था। लेकिन इनमे कई सारी कमियाँ थी क्योंकि यह बहुत ही कम data को store कर सकते थे। इनकी सबसे बड़ी कमी यह थी कि जिस order में इनमे data स्टोर किया जाता था उसे उसी order में read किया जा सकता था। Williams tube सबसे पहली RAM थी जो साल 1947 में आई थी। रॉबर्ट डेनार्ड को RAM का अविष्कारक माना जाता है जिन्होंने 1968 में इसका का पेटेंट कराया था। रॉबर्ट डेनार्ड के द्वारा जो RAM बनाई गई थी उसमे transistors का इस्तेमाल किया गया था। जो कि वर्तमान में उपयोग में ली जाने वाली RAM का पहला चरण था।

RAM के कार्य क्या हैं (Functions of RAM in Hindi)

जब भी हम कंप्यूटर पर कोई काम करते हैं और किसी सॉफ्टवेयर को ओपन करते हैं तो सॉफ्टवेयर कंप्यूटर की हार्डडिस्क से ram में लोड होता है। उदाहरण के तौर पर बात करें तो जैसे अगर हमें photoshop पर कोई photo एडिट करना है तो यह सॉफ्टवेयर हमारे कंप्यूटर की सेकेंडरी मेमोरी यानि hard disk में स्टोर होगा। जब हम इस सॉफ्टवेयर को run करते हैं तो इसकी files हार्डडिस्क से RAM में लोड होंगे। जब हम photoshop पर काम करके इसे बंद कर देंगे तो यह RAM से मिटा दिया जायेगा।

RAM इसी तरह smartphone में भी काम करती है। जब हम phone में कोई भी App को ओपन करते हैं तो यह फ़ोन की memory से RAM में ही लोड होता है

RAM एक बहुत ही तेज स्पीड वाली memory होती है। यह CPU को हाईस्पीड के साथ डाटा डिलीवर करती है और प्राप्त करती है। Random-Access Memory की वजह से हमारा सिस्टम तेजी से काम कर पाटा है। अगर system में ram कम होगी तो उसमे हम बड़े सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके अलावा ज्यादा सॉफ्टवेयर एक साथ ओपन कर लेने पर सिस्टम हैंग भी हो सकता है।

कंप्यूटर के प्रकार हिंदी में

RAM कितने तरह (types of RAM in Hindi)

RAM मुख्य रूप से 2 प्रकार की होती है एक Static RAM (DRAM) और दूसरी Dynamic RAM (DRAM)। आइये RAM के प्रकार के बारे में आपको विस्तार से बताते हैं।

Static RAM (DRAM)

Static RAM की स्पीड बहुत तेज होती है। इसमें कम डाटा को स्टोर करने के लिए 6 MOSFET का उपयोग किया जाता है। इस तरह की RAM का इस्तेमाल super computer में किया जाता है। इस RAM को बनाने में बहुत ज्यादा खर्चा आता है और इसकी बिजली की खपत भी ज्यादा होती है। यह RAM, Dynamic RAM से बहुत तेज होती है।

Dynamic RAM (DRAM)

DRAM (Dynamic RAM) में थोड़ा डाटा स्टोर करने के लिए 1 MOSFET का इस्तेमाल किया जाता है। इस तरह की RAM, SDRAM से सस्ती होती है। हमारे पर्सनल कंप्यूटर और लैपटॉप में Dynamic RAM (DRAM) ही लगाईं जाती है। DRAM की स्पीड SDRAM से कम होती है।

Also Read: CPU क्या है

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *