Interpreter In Hindi- इंटरप्रेटर क्या है इसे प्रकार

Interpreter In Hindi- इंटरप्रेटर क्या होता है यह कितने प्रकार का होता है: Interpreter एक ऐसा प्रोग्राम होता है जो कि high-level programming language में लिखे program instructions को एक्सीक्यूट करता है। इसका मुख्य काम high-level program को एक intermediate language में translate करने का होता है और इसके बाद यह इसे एक्सीक्यूट करता है। यह high-level source code को Parse करता है और इसके बाद एक्सीक्यूट करता है। जैसा कि आप जानते ही होंगे कि मनुष्य  सिर्फ high-level languages को समझ सकता है जिसे हम source code भी कहते हैं। लेकिन कंप्यूटर सिर्फ उन प्रोग्राम को समझ सकते हैं जो कि binary languages में लिखे होते हैं। इसलिए interpreter or compiler की आवश्यकता होती है।

Programming languages को दो तरह से इम्प्लेमेंट सकते हैं एक इंटरप्रिटेशन के द्वारा और दूसरा कंपाइलेशन से। जैसा ही इसके नाम से ही समझ आता है कि interpreter हाई लेवल प्रोग्रामिंग कोड को मशीन कोड machine (machine code) या एक intermediate language में translate करता है, जिससे कि इसे आसानी से executed किया जा सके।

Interpreter हर code के हर statement को पढता है और फिर इसे कन्वर्ट करता है या फिर execute करता है। आपको बता दें कि एक assembler याcompiler किसी भी high-level source code को native code में कन्वर्ट करता है जो कि ऑपरेटिंग सिस्टम के द्वारा डायरेक्ट execute किया जा सकता है। exe file इसका एक अच्छा उदहारण है।

इंटरप्रेटर क्या है (Interpreter In Hindi)

Interpreter In Hindi

इंटरप्रेटर (Interpreter) एक ऐसा सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम है जो कि High level language को machine language में translate करता है। जिससे कि कंप्यूटर प्रोग्राम को read करके उसे execute कर सके। आपको बता दें कि इंसान जो प्रोग्राम लिखता है वो High Level Language में होते हैं लेकिन कंप्यूटर 0 और 1 यानी बाइनरी लैंग्वेज को ही समझता है। कम्पाइलर पूरे source कोड को एक ही बार translate करता है लेकिन इंटरप्रेटर (Interpreter) की बात करें तो यह source code को line by line ट्रांसलेट करता है। इसलिए इंटरप्रेटर को प्रोग्राम को translate करने के में कम्पाइलर से अधिक समय लगता है।

इंटरप्रेटर कैसे कार्य करता है (How Interpreter Works in hindi)

अब यह तो आप जान ही गए होंगे कि इंटरप्रेटर का मुख्य कार्य Source Code को Machine Language में ट्रांसलेट करना हैं। इस कार्य को करने के लिए सबसे पहले जब हम को program को तैयार करते समय Interpreter की memory में upload करते हैं। इसके बाद हम उस program को high level language में लिखते हैं। Interpreter उस प्रोग्राम को machine langauge में translate करने के लिए line by line चेक करता है। अगर Interpreter को प्रोग्राम में कोई error मिलती है तो वो इसे Highlight कर देता हैं। अगर error नहीं मिलती तो Interpreter उस line को machine langauge (बाइनरी)में translate कर डेटा है। Interpreter सभी तरह कि high level langauge को machine langauge में translate कर डेटा है ताकि कंप्यूटर उस प्रोग्राम को read कर सके और उसमे दिए गए इंस्ट्रक्शन के अनुसार यूजर को output दे सके।

इंटरप्रेटर कितने प्रकार के होते हैं -Types of Interpreter in Hindi

अपने कार्य और कार्य करने के तरीके के अनुसार Interpreter 4 प्रकार के हो सकते हैं जो कि निम्न लिखित हैं।

  • Simultaneous Interpreter
  • Consecutive Interpreter
  • Whisper Interpreter
  • Phone Interpreter

Simultaneous Interpreter

यह एक ऐसा Interpreter होता है जिसका इस्तेमाल Live program में एक voice code को दूसरे voice code में translate करने के लिए किया जाता है। इसका यह फायदा होता है कि अगर कोई व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति की भाषा को नहीं समझ पाता तो Simultaneous Interpreter की मदद से उसकी भाषा को सुन सकता है। जब कोई Live program या टीवी प्रोग्राम में किसी अन्य देश या भाषा के व्यक्ति को संबोधन करते हुए देखते हैं तो Simultaneous Interpreter उसे हमारे भाषा में बदलकर दिखाता है।

Consecutive Interpretation

 consecutive interpretation उसे कहा जाता है कि जब कोई वक्ता एक या दो वाकया कहता  है और फिर रुक जाता है तो इसके बाद यह interpreter उसे दूसरी भाषा में दोहराता है। आपको बता दे कि इस तरह के Interpreter उपयोग पास में बैठकर दूसरे की बातों को समझने और कहने के उद्देश्य से किया जाता है। इस इंटरप्रेटर का इस्तेमाल मुख्य रूप से अंतरराष्ट्रीय बैठकों में, अदालत में या फिर इंटरव्यू के दौरान किया जाता है।

Phone Interpreter

यह एक ऐसा Interpreter है जिसका उपयोग दो या इससे अधिक व्यक्तियों के बीच फ़ोन पर होने बाली बातों को translate करने के लिए क्क्य जाता है। इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से हॉस्पिटल, सार्वजनिक सेवाओ और विभिन्न कार्यालयों ज्यादा में किया जाता हैं। 

Whisper Interpreter

इस Interpreter का इस्तेमाल ध्वनि कोड को translate करने के लिए किया जाता है। सीधे शब्दों में कहें तो एक ऐसा Interpreter होता है जो दो व्यक्तियों के बीच ट्रांसलेटर के रूप में काम करता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *