कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम क्या हैं- Parts of Computer in Hindi

कंप्यूटर के पार्ट्स, Parts of the Computer in Hindi, Computer ke parts: कंप्यूटर (Computer) एक ऐसा इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिसके विभिन्न पार्ट्स होते हैं जैसे कीबोर्ड (Keyboard), सीपीयू (CPU), मॉनिटर (Monitor), पॉवर सप्लाई (Power Supply) और स्टोरेज डिवाइस (Storage device) आदि। कंप्यूटर हमारे जीवन में बहुत ज्यादा इस्तेमाल होने की वजह से दैनिक जीवन का एक जरुरी हिस्सा बन गया है। कंप्यूटर कई Arithmetic ऑपरेशन से लेकर हाई लेवल एल्गोरिदम तक इनपुट डेटा और इसमें इनस्टॉल सॉफ़्टवेयर के आधार पर विभिन्न कार्य का सकता है। कंप्यूटर एक डिवाइस ही नहीं बल्कि यह एक सब्जेक्ट भी है जिससे विभिन्न परीक्षा में प्रश्न पूछे जाते हैं और इसके साथ कंप्यूटर में कौनसे पार्ट्स होते हैं इसके बारे में भी आपको पता होना जरुरी है। कंप्यूटर में प्रोसेसर सहित 5 पार्ट्स मुख्य होते हैं जिससे वह लॉजिकल और अरिथमेटिक ऑपरेशन कर पाता है। तो आइये जानते हैं कंप्यूटर और इसके पार्ट्स के बारे में।

कम्प्यूटर क्या है (What is Computer)

कंप्यूटर (Computer) इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या मशीन है जो कि यूजर से input लेकर विभिन्न लॉजिकल और अरिथमेटिक ऑपरेशन परफॉर्म करता है और इसके साथ ही डाटा को स्टोर भी कर सकता है। कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो कि हमारे दिमाग की तरह भी काम कर सकती है। कंप्यूटर बहुत ही पावरफुल डिवाइस है जो कि बड़ी मात्रा में डाटा को processed कर सकता है। कंप्यूटर (Computer) का उपयोग हमारे द्वारा रोजाना विभिन्न कामों के लिए किया जाता है। आजकल कंप्यूटर शिक्षा का भी अभिन्न हिस्सा बन गया है। क्योंकि आजकल स्कूली शिक्षा और कॉलेज में एक सब्जेक्ट की तरह शामिल किया जाता है। कंप्यूटर पर हम विभिन्न कार्य कर सकते हैं जैसे रिकॉर्ड रखना, डाटा स्टोर करना, फिल्म देखना, नोट्स तैयार करना, गेम खेलना, इंटरनेट चलाना, ऑनलाइन शॉपिंग करना आदि। कंप्यूटर की मदद से हम इंटरनेट के द्वारा पूरी दुनिया से जुड़ सकते हैं और विभिन्न मुद्दों पर जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

कंप्यूटर के Components को हम दो दो श्रेणियों में वर्गीकृत कर सकते हैं एक सॉफ्टवेयर और एक हार्डवेयर। कंप्यूटर के physical part को हार्डवेयर कहा जाता है। कंप्यूटर में लगा प्रोसेसर, इनपुट और आउटपुट डिवाइस जैसे कीबोर्ड (Keyboard), प्रिंटर (Printer), माउस (Mouse), मॉनिटर (Monitor), स्पीकर (Speaker) सभी कंप्यूटर के हार्डवेयर कहलाते हैं। स्टोरेज डिवाइस भी कंप्यूटर (Computer) के हार्डवेयर में शामिल है।

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में Iinstructions का समूह होता है। कंप्यूटर (Computer) सॉफ्टवेयर को दो श्रेणियों में वर्गीकृत किया जा सकता है। एक application software और दूसरा operating system। application software कंप्यूटर (Computer) को इनपुट डेटा के आधार पर विशिष्ट कार्य करने के लिए Instruction देता है। ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर के सभी हार्डवेयर को कंट्रोल करने, स्टोरेज डिवाइस को मेनेज करने का काम करता है।

कंप्यूटर (Computer) कई प्रकार के हो सकते हैं और हर तरह के कंप्यूटर का इस्तेमाल अलग-अलग कामों के लिए किया जाता है। सबसे तेज कंप्यूटर super computer को कहा जाता है जो कि जटिल डेटा प्रोसेसिंग, जैसे मौसम की भविष्यवाणी करने के लिए जानकारी को इकट्ठा करने के लिए किया जाता है। आपको बता दें कि यह कंप्यूटर काफी महंगे होते हैं। दूसरी ओर, डेस्कटॉप कंप्यूटर होता है जिसका इस्तेमाल हमारे रोज के कामों के लिए किया जाता है जैसे स्कूलों, कार्यालयों और घरों में। हमारे घरों में जो कंप्यूटर उपयोग किया जाता है उसे पर्सनल कंप्यूटर (PC) के रूप में जाना जाता है। कंप्यूटर (Computer) सिस्टम के अधिक पोर्टेबल रूप में लैपटॉप और टैबलेट शामिल हैं। कॉन्फ़िगरेशन के आधार पर, लैपटॉप और टैबलेट विभिन्न कार्य कर सकते हैं। हैंडहेल्ड कंप्यूटर (Computer) लोकप्रिय रूप से पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट के रूप में जाने जाते हैं। यहां तक ​​​​कि छोटे कंप्यूटिंग सिस्टम को रोबोट, स्मार्ट कार, हवाई जहाज और कुछ घरेलू उपकरणों में फिट करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम- Computer ke Parts in Hindi

आपको बता दें कि किसी भी कंप्यूटर में मुख्य रूप से 5 पार्ट्स अवश्य होते हैं। जिसमे मदरबोर्ड (Motherboard), एक सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU), ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट (GPU), एक रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM) और एक हार्ड डिस्क (Hard disk) या सॉलिड-स्टेट ड्राइव  के नाम शामिल है। भले कोई भी पर्सनल कंप्यूटर हो या हाई एंड गेमिंग कंप्यूटर हो सभी में यह 5 पार्ट्स अवश्य शामिल होते हैं।  इसके अलावा कंप्यूटर में उपयोग के हिसाब से कई अन्य डिवाइस जोड़ी जा सकती है। कंप्यूटर के मदर बोर्ड पर अन्य डिवाइस को जोड़ने के लिए कनेक्टर दिए होते हैं। आप जरूरत पड़ने पर इन कनेक्टर से डिवाइस जो जोड़ सकते हैं। आइये अब हम कंप्यूटर के प्रमुख पार्ट्स के बारे में आपको बताना जा रहें हैं।

मदरबोर्ड (Motherboard)

Motherboard

कंप्यूटर में मदरबोर्ड (Motherboard) वह सर्किट बोर्ड होता है जिस पर कंप्यूटर के सभी डिवाइस और हाई-एंड चिपसेट लगे होते हैं। मदरबोर्ड (Motherboard) पर लगे सभी सर्किट कंप्यूटर को काम करने में मदद करते हैं। मदरबोर्ड (Motherboard) किसी भी कंप्यूटर डिवाइस के सबसे प्रमुख भागों में से एक है। इसे प्रिंटेड सर्किट बोर्ड के रूप में भी जाना जाता है। यह सभी तरह के कंप्यूटर (Computer) मौजूद होता है चाहे वो किसी भी generation का हो। कंप्यूटर (Computer) के सभी प्रमुख पार्ट्स जैसे प्रोसेसर, इंटरफ़ेस कनेक्टर, मेमोरी कंट्रोलर मदरबोर्ड (Motherboard) पर ही कनेक्ट होते हैं। इसके अलावा मदरबोर्ड पर साउंड कार्ड, हार्ड ड्राइव, इंटरफ़ेस कार्ड, नेटवर्क कार्ड, वीडियो कार्ड और USB स्लॉट के लिए कार्ड मदरबोर्ड (Motherboard) से कनेक्टेड होते हैं।

सी पी यू (सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट)

CPU

यह कंप्यूटर का प्रमुख भाग होता है। इसके बिना कंप्यूटर की कल्पना भी नहीं की जा सकती हा।सीपीयू (CPU) या सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट को कंप्यूटर (Computer) का दिमाग कहा जाता है। आपको बता दें कि किसी भी कंप्यूटर उपलब्ध कराए गए सभी डेटा को कंप्यूटर (Computer) की सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट में प्रोसेस किया जाता है। CPU में प्रोग्रामों के माध्यम से कंप्यूटर को दिए गए Instructions को Execute किया जाता है। CPU में कंप्यूटर के सभी बेसिक ऑपरेशन , कंट्रोल , अरिथमेटिक और I/O ऑपरेशन किये जाते हैं। आपको बता दें कि किसी भी बेसिक CPU में दो कंपोनेंट्स होते है जिसे अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट (ALU) और कंट्रोल यूनिट (Control) कहा जाता है। Arithmetic ऑपरेशन का रिजल्ट होता है जो कि प्रोसेसर में स्टोर होते हैं। control unit कंप्यूटर की memory से इंस्ट्रक्शन प्राप्त करती है और उनके execution में मदद करती है।

CPU के बारे में अधिक पढने के लिए यहाँ क्लिक करें

रैंडम एक्सेस मेमोरी (RAM)

RAM

रैंडम एक्सेस मेमोरी या RAM को कंप्यूटर की वोलेटाइल memory भी कहा जाता है। यह memory कंप्यूटर के प्रमुख पार्ट्स में से एक है। RAM कंप्यूटर की मुख्य memory होती है और यह एप्लिकेशन प्रोग्राम, ऑपरेटिंग सिस्टम और वर्तमान में उपयोग किए जाने वाले डेटा को स्टोर करती है। आपको बता दें कि RAM से डेटा पढ़ने और उसमें डेटा लिखने में कम समय लगता है। इसलिए, CPU रैंडम एक्सेस मेमोरी में स्टोर डेटा को तेजी से एक्सेस कर सकता है। जैसा कि हम आपको बता चुकें हैं कि RAM वोलेटाइल memory होती है। इसमें डाटा तब तक ही स्टोर रहता है जब तक कि कंप्यूटर ओन है। कंप्यूटर के बंद होते हैं RAM से डाटा साफ़ हो जाता है। जब कंप्यूटर को ओन किया जाता है तो ऑपरेटिंग सिस्टम अन्य प्रोग्रामों के साथ हार्ड डिस्क ड्राइव से RAM में फिर से लोड होते हैं। आपको बता दें कि RAM सेकेंडरी मेमोरी यानी hard disk की तुलना में कम डाटा रख सकती है। उदाहरण के रूप में बात करने तो RAM की capacity 8 या 16 GB तक हो सकती है लेकिन हार्ड डिस्क10 TB (10000GB) डेटा भी स्टोर कर सकती है।

स्टोरेज (Storage)

कंप्यूटर के प्रमुख बेसिक पार्ट्स में स्टोरेज बहुत ही प्रमुख होती है। आपको बता दें कि Solid state ड्राइव (SSD) और हार्ड डिस्क (HDD) को कंप्यूटर में स्टोरेज के रूप इस्तेमाल किया जाता है। आपको बता दें कि हार्ड डिस्क (HDD) कंप्यूटर में डाटा को स्थाई रूप से स्टोर करती है। इसलिए आप जब कंप्यूटर को बंद भी कर देते हैं तो डाटा हार्डडिस्क में स्टोर रहता है। कंप्यूटर के सभी प्रमुख सॉफ्टवेयर जैसे ऑपरेटिंग सिस्टम, ड्राइवर्स, प्रोग्राम, यूटिलिटी सॉफ्टवेयर आदि हार्ड डिस्क (HDD) में ही स्टोर होते हैं। हार्ड डिस्क (HDD) कंप्यूटर की सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस हैं। सॉलिड-स्टेट स्टोरेज डिवाइस इंटीग्रेटेड सर्किट असेंबलियों पर लगातार डेटा स्टोर कर सकते हैं। SSD या सॉलिड-स्टेट डिवाइस में सेमीकंडक्टर सेल होते हैं और उन पर डेटा स्टोर करते हैं।

इसलिए इस ड्राइव में आवाज नहीं आती। ये स्टोरेज डिवाइस कम एक्सेस टाइम और कम लेटेंसी के साथ आते हैं। हार्ड डिस्क के मुकाबले कंप्यूटर में SSD स्टोरेज के लिए अच्छी होती है और इसकी स्पीड भी हार्ड डिस्क के मुकाबले fast होती है।

ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट (GPU)

GPU

ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट जिसे हम GPU के रूप में भी जानते हैं। आपको बता दें कि ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट किसी भी कंप्यूटर या लैपटॉप में ग्राफ़िक्स की क्वालिटी को बेहतर बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। ग्राफिक्स प्रोसेसिंग यूनिट पेरेलल प्रोसेसिंग सुविधा प्रदान करके CPU के परफॉरमेंस को बढ़ाता है। आपको बता दें कि एक CPU में 4 या 8 कोर होते हैं लेकिन एक GPU में सैकड़ों कोर हो सकते हैं। एक कंप्यूटर में जितना अच्छा ग्राफ़िक्स कार्ड होता उतनी ही अच्छी इसके ग्राफ़िक्स की क्वालिटी होगी। जो लोग कंप्यूटर का इस्तेमाल गेमिंग के लिए या विडियो एडिटिंग के लिए करते हैं तो इसके लिए उनके सिस्टम एक अच्छा GPU का होना बेहद जरुरी है। एक ग्राफ़िक्स कार्ड में अपनी प्रोसेसिंग यूनिट, कुलिंग सिस्टम, डिस्प्ले कनेक्टर और ram भी होती है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *