What is computer in Hindi: कंप्यूटर क्या है और इसकी विशेषताएं

About Computer in Hindi: बहुत से लोग कंप्यूटर क्या है (Computer kya hai) यह अक्सर इंटरनेट पर सर्च करते हैं। वैसे तो लगभग सभी लोग यह जानते हैं कि कंप्यूटर क्या होता है (what is computer in hindi) यह कैसे काम करता है। लेकिन फिर भी हम आपकी मदद करने के लिए आपको कंप्यूटर के बारे में पूरी जानकारी देने जा रहें हैं।

About Computer in Hindi:

कंप्यूटर क्या है (What is Computer in Hindi)

कंप्यूटर एक ऐसी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो किसी यूजर से input लेती है और उसे प्रोसेसिंग करके आउटपुट प्रदान करती है। सीधे शब्दों में कहें तो कंप्यूटर एक ऐसी electronic device है जो हमारे द्वारा दिए गए निर्देशों को प्रोसेस करती है और उसका आउटपुट देती है। मान लीजिये कि हम कंप्यूटर पर keyboard की मदद से कोई टेक्स्ट input कर रहें हैं तो कंप्यूटर में वो टेक्स्ट स्क्रीन पर आउटपुट के रूप में दिखाई देगा। कंप्यूटर पर हम कई सारे काम कर सकते हैं जैसे ईमेल भेजना, फाइल क्रिएट करना, photo एडिट करना, एकाउंटिंग, गेम खेलना, इंटरनेट चलाना, और ईमेल करना आदि।

कंप्यूटर के बारे में (About Computer in Hindi)

computer वर्ड अंग्रेजी के “COMPUTE” शब्द उत्पन्न हुआ है जिसका अर्थ होता है गणना करना। कंप्यूटर अपनी हाई स्टोरेज कैपेसिटी, तेज स्पीड, एक्यूरेसी के लिए हर क्षेत्र में इस्तेमाल किया जा रहा है। कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो एक सेकंड से भी का समय का गई सारे गणनाएं कर सकता है। कंप्यूटर जो भी रिजल्ट देता है वो एक दम सटीक और शुद्ध होता है।

कंप्यूटर का इतिहास (History of Computer in Hindi)

पहला डिजिटल कंप्यूटर जिसे ENIAC कहा जाता था उसे द्वितीय विश्व युद्ध (1943-1946) के दौरान बनाया गया था। शुरुआत में कंप्यूटर को मानव द्वारा की जा रही गणनाओं को करने के उद्देश्य से बनाया गया था। कंप्यूटर से की गणनाओं के परिणाम को बहुत ही तेजी के साथ प्राप्त किया जा सकता है और इसके द्वारा की गई गणनाओं के परिणाम कम त्रुटि वाले और सटीक होते थे। शुरुआत में जब ENIAC कंप्यूटरों का इस्तेमाल किया जाता था तो इनमे वैक्यूम ट्यूब का इस्तेमाल किया जाता था। ये कंप्यूटर आकार में एक कमरे के आकर के हुआ करते थे और इनका इस्तेमाल बड़े आर्गेनाइजेशन, बिज़नेस, यूनिवर्सिटी, रिसर्च सेंटर्स में ही किया जाता था। इसके बाद कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब के स्थान पर ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल किया जाने लगा जिसमें कंप्यूटर के साइज़ को बहुत छोटा कर दिया और सामान्य व्यक्ति के पास भी कंप्यूटर पहुँच गया।

वर्तमान में जो कंप्यूटर आ रहें हैं वो काफी fast है और उनका इस्तेमाल विभिन्न क्षेत्र में जैसे फिल्म जगत में, रिसर्च सेंटर, बैंक, रेलवे स्टेशन, बिज़नेस, कॉलेज, स्कूल, घरों में, एअरपोर्ट, आदि में हो रहा है। आज कंप्यूटर की वजह से से ही हर क्षेत्र में काम काफी तेजी के साथ हो रहा है।

कंप्यूटर किन चीज़ों से मिलकर बना है (Parts of the Computer in Hindi)

आपको बता दें कि कोई भी कंप्यूटर में मुख्य रूप से दो भाग होते हैं एक सॉफ्टवेयर और एक हार्डवेयर।

Hardware

कंप्यूटर में जो भी input device, मदरबोर्ड, ram, मॉनिटर, हार्ड डिस्क, आदि इस्तेमाल किये जाते हैं उन्हें हम हार्डवेयर के रूप में जानते हैं। हार्डवेयर कंप्यूटर के उन भागों को कहा जाता है जिन्हें हम स्पर्श कर सकते हैं। नीचे हमने कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले हार्डवेयर और डिवाइस की लिस्ट दी है। जिसको देखने के बाद आप कंप्यूटर हार्डवेयर के बारे में अच्छी तरह से जान पाएंगे।

Case Fan
Case or Chassis
CPU (processor)
Floppy disk drive
Hard drive
Keyboard
Microphone
Monitor, LCD, or another display device।
Motherboard
Mouse
Network card
Optical drive: (CD-ROM, CD-R, CD-RW, or DVD)
Power Supply
Printer
RAM (random access memory)
Sound card
Speakers
Video card
Wearable

Software

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर में इंस्ट्रक्शन का set होता है जो कि कंप्यूटर हार्डवेयर को काम करने के लिए निर्देश देता है। सॉफ्टवेयर किसी भी कंप्यूटर का का वह भाग होता है जिसे हम स्पर्श नहीं कर सकते हैं। कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले प्रमुख सॉफ्टवेयर की बात करने तो इसमें ऑपरेटिंग सिस्टम, फोटोशोप, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस, ब्राउज़र जैसे गूगल क्रोम, इंटरनेट एक्स्प्लोरर आदि के नाम शामिल हैं। सॉफ्टवेयर किस भी कंप्यूटर का वह भाग होता है जो कि कंप्यूटर पर काम करने वाले यूजर और कंप्यूटर हार्डवेयर के बीच इंटरफ़ेस प्रोवाइड करता है। हम कंप्यूटर स्क्रीन पर जो भी काम कर रहें हैं वो एक सॉफ्टवेयर होता है और जिन डिवाइस का हम इस्तेमाल कर रहें होते हैं वो हार्डवेयर कहलाता था।

हमें उम्मीद है कि अब आप कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर के बारे में अच्छी तरह से समझ गए होंगे।

कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं (different types of Computers in HIndi)

कंप्यूटर शब्द सुनकर अक्सर आपके दिमाग में desk पर रखा मॉनिटर और CPU नजर आने लगता होगा। लेकिन आजकल कंप्यूटर बहुत से साइज़ में आने लगे हैं। जैसे डेस्कटॉप, लैपटॉप, टेबलेट आदि, यहाँ तक की आप जिस स्मार्टफ़ोन का इस्तेमाल करते हैं वो भी एक कंप्यूटिंग डिवाइस ही है। इसके अलावा हॉस्पिटल में, एटीएम मशीन में भी होता है। आइये आपको कंप्यूटर के प्रकार के बारे में विस्तार से बताते हैं।

Laptop computers

लैपटॉप भी कंप्यूटर ही होते हैं। इन्हें हम अपने पैर के ऊपर रखकर इस्तेमाल करते हैं। इसलिए इन्हें Laptop कहा जाता है। यह कंप्यूटर डेस्कटॉप की तुलना में पोर्टेबल और लाइट होते हैं जिसे आप कही भी अपने साथ ले जा सकते हैं। इनकी सबसे अच्छी बात यह होती है कि आप इन्हें चार्ज करने के बाद 2-3 घंटे तक इस्तेमाल कर सकते हैं।

Tablet computers

टैबलेट कंप्यूटर साइज़ में लैपटॉप से भी ज्यादा पोर्टेबल होते हैं। इस तरह के कंप्यूटर मे कीबोर्ड की जगह टच स्क्रीन होता है जिस पर आप टच करके input दे सकते हैं। आजकल टेबलेट के रूप में आईपैड का इस्तेमाल सबसे ज्यादा हो रहा है।

Game Control

गेमिंग कंसोल भी कंप्यूटर का ही एक उदाहरण है। यह एक ऐसी डिवाइस है जिसका इस्तेमाल टीवी पर कनेक्ट करके विडियो गेम खेलने के लिए किया जाता है। microsoft xbox और sony playstation गेमिंग कंसोल के उदाहरण है।

कंप्यूटर की विशेषताये (Characteristics of Computer)

गति (Speed)

कंप्यूटर की सबसे खास विशेषताओ में से एक है इसकी स्पीड। यानि कंप्यूटर किसी भी कार्य को बहुत तेजी के साथ कर सकता है। उदाहरण के लिए बात करें तो अगर 4543 और 9452 का गुणा करना होतो आम आदमी को इसमें 2 मिनट का समय लग सकता है। लेकिन जब आप यह कार्य कंप्यूटर से करते हैं तो वह आपको 1 सेकंड से भी कम समय में बड़ी से बड़ी संख्या का गुणा कर सकता है इसके अलावा भी आप कंप्यूटर से गुणा, भाग, जोड़, घटाना और अन्य काम कर सकते हैं।

स्वचालन (Automation)

Automation जिसे हिंदी में स्वचालन कहा जाता है। यह भी कंप्यूटर की एक विशेषता है। इसका अर्थ है कि कंप्यूटर अपना कार्य खुद भी कर सकता है। एक बार कंप्यूटर में अगर प्रोग्राम इनस्टॉल कर दिए जाने पर यह उसके अनुसार काम करता है। हम कई कंप्यूटर मशीनों का इस्तेमाल करते हैं जो कि अपने आप काम कर सकती हैं। इसके लिए कंप्यूटर में प्रोग्राम डाले जाते हैं।

 शुद्धता (Accuracy)

अगर हम किसी भी काम को करते हैं तो उसमे हमसे गलती हो जाती है। जैसे कि हम कोई भी संख्या का गुणा या भाग 10 बार करेंगे तो हमसे एक न एक बार गलती हो सकती है। लेकिन कंप्यूटर के साथ ऐसा नहीं है आप कंप्यूटर से कोई भी गणना कितनी भी बार करवा ले। वह आपको हमेशा सही परिणाम ही देगा। अगर कंप्यूटर में कभी कोई गलती होती है तो इसका जिससे हमेशा यूजर ही होता है जिसने उसे गलत input दिया होगा। Computer एक ऐसी डिवाइस है जो किसी भी काम को पूरी Accuracy के साथ करती है।

सार्वभौमिकता (Versatility)

कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जिसका इस्तेमाल आज हर जगह हो रहा है। लोगों के रोज के कामों से लेकर बैंक, बिज़नेस, कॉलेज, स्कूल, सरकारी दफ्तरों, रेलवे स्टेशन, एअरपोर्ट आदि पर कंप्यूटर का उपयोग किया जाता है।

उच्च संग्रहण क्षमता (High Storage Capacity)

कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जिस पर आप 1000 GB (1TB) से भी ज्यादा डाटा स्टोर कर सकते हैं। आप इसमें अपने डाटा को कई सालों तक स्टोर करके रख सकते हैं और जरूरत पड़ने पर कभी भी ओपन कर सकते हैं। कंप्यूटर में आप अपनी फोटोज, विडियो, गाने, डाक्यूमेंट्स, गेम्स, सॉफ्टवेयर और अन्य डाटा स्टोर कर सकते हैं।

याद रखने की क्षमता (Power of Remembrance)

Power of Remembrance यानी कि याद रखने की शक्ति कंप्यूटर की एक विशेषता है। आपको बता दें कि कंप्यूटर अपनी memory में कई सारी डाटा को स्टोर कर सकता है या याद रख सकता है। वहीँ अगर हम आम इंसान की बात करें तो वह एक limit में ही चीजों को याद रख सकता है लेकिन कंप्यूटर के साथ ऐसा नहीं है। उदाहरण की बात करें तो आप 100 मोबाइल नंबर को 1 साल तक याद नहीं रख सकते है। लेकिन अगर कंप्यूटर की memory आप लाखो मोबाइल नंबर को भी सेव कर दें तो आप इसे 10 साल बाद भी प्राप्त कर सकते हैं।

कर्मठता (Diligence)

एक इंसान को काम करने के बाद थकान हो सकती है। कंप्यूटर एक ऐसी मशीन है जो कि बिना रुके कई सालों तक काम कर सकता है।

Reliability (विश्वसनीयता)

कंप्यूटर किसी भी कार्य को Accuracy के साथ करता है। आप इसके परिणाम पर पूरी तरह विश्वास कर सकते है क्योंकि इसके द्वारा किया गया कोई भी काम हमेशा सही होता है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *